Navratri 2022: मां दुर्गा के 9 स्वरूपों को पसंद है ये रंग, जानें इनका महत्व

WRITTEN BY Akhil Singhal news

नवरात्रि 2022

शारदीय नवरात्र की शुरुआत 26 सितंबर से हो चुकी है, जबकि शारदीय नवरात्र का समापन 04 अक्टूबर को होगा।

Google

मां शैलपुत्री (पहला दिन)

मां शैलपुत्री को सफेद रंग बहुत प्रिय है। यह रंग शुद्धता और शांति का प्रतीक माना जाता है।

मां ब्रह्मचारिणी (दूसरा दिन)

इस दिन लाल रंग का उपयोग करना बेहद शुभ माना गया है। लाल रंग साहस, पराक्रम और प्रेम का प्रतीक होता है।

मां चंद्रघंटा (तीसरा दिन)

मां चंद्रघंटा की आराधना में नारंगी रंग के वस्त्र धारण कर पूजा करने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

मां कुष्मांडा (चौथा दिन)

मां कूष्मांडा की पूजा के समय पीला रंग के वस्त्र धारण शुभ माना गया है।पीला रंग उमंग का प्रतीक है।

मां स्कंदमाता (पांचवां दिन)

स्कंदमाता की पूजा वाले दिन हरे रंग का प्रयोग सबसे उत्तम माना जाता है। हरा रंग कुछ नया करने के लिए हमेशा प्रेरित करता है।

मां कात्यायनी (छठा दिन)

मां कात्यानी की पूजा के समय ग्रे यानी स्लेटी रंग पहनना चाहिए। यह रंग बुराईयों को नष्ट करने वाला माना गया है।

मां कालरात्रि (सातवां दिन)

मां कालरात्रि को समर्पित इस दिन पूजा में नीलें रंग का उपयोग शुभ माना गया है, नीला रंग निडरता का प्रतीक है।

मां महागौरी (आठवां दिन)

माता महागौरी को जामुनी रंग अतिप्रिय है।

मां सिद्धिदात्री (नौवां दिन)

ज्ञान प्रदान करने वाली मां की पूजा वाले दिन गुलाबी रंग का इस्तेमाल करना चाहिए। गुलाबी रंग प्रेम और नारीत्व का सूचक है।

For More Such Stories...