मैगी खाकर गुजारा करने वाले Hardik आज बन चुके हैं करोड़पति

WRITTEN BY Sumit Kumar news

पिता की आर्थिक स्थिति थी खराब

हार्दिक पंड्या के पिता हिमांशु की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, बचपन में कई बार हार्दिक और उनके बड़े भाई को एक बार ही खाना मिल पाता था।

Google

बचपन से था क्रिकेट से प्यार

हार्दिक पंड्या को बचपन से ही क्रिकेट से प्यार था। पंड्या 5 साल की उम्र से ही क्रिकेट खेल रहे हैं।

Google

पैसों के लिए खेलते थे दुसरे गांव से

हार्दिक और कुणाल पंड्या 400-500 रूपये कमाने के लिए दुसरे गांव से क्रिकेट खेलते थे।

Google

मैगी खाकर करते थे गुजारा

हार्दिक ने एक इंटरव्यू में बताया था कि परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी खराब थी कि वह कई बार मैगी खाकर अपना गुजारा करते थे।

Google

8वीं तक की पढ़ाई

हार्दिक पंड्या पढ़ाई में अच्छे नहीं थे और 9वी क्लास में ही फेल गये थे। इसके बाद उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी और अपना पूरा ध्यान क्रिकेट में ही लगाने लगे।

Google

करियर बनाने में किरण मोरे का रहा हाथ

पूर्व क्रिकेटर किरण मोरे ने हार्दिक पंड्या को अपनी क्रिकेट एकेडमी में तीन साल फ्री ट्रेंनिंग दी और उन्हें एक बेहतर क्रिकेट खिलाड़ी बनाने में मदद की।

Google

IPL नीलामी से बदली किस्मत

2015 की IPL नीलामी में MI की टीम ने हार्दिक को बेस प्राइज़ 10 लाख रूपये में खरीदा और इसके बाद हार्दिक ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

Google

हार्दिक आज हैं करोड़पति

हार्दिक पंड्या आज करोड़पति बन चुके हैं। पंड्या अलग-अलग कंपनियों के साथ उनकी ब्रांड एंडोर्समेंट डील भी करते हैं।

Google

हार्दिक पंड्या की फिटनेस

हार्दिक पंड्या अपनी फिटनेस के लिए जाने जाते हैं। उन्हें टीम इंडिया के सबसे फिट खिलाड़ियों में गिना जाता है।

Google