Bihar News: असिस्टेंट प्रोफेसर ने अपनी 33 महीने की सैलरी के 23 लाख रूपये कॉलेज को वापस लौटाए - जानें वजह

Publish Date: 07 Jul, 2022
Twitter Bihar News: असिस्टेंट प्रोफेसर ने अपनी 33 महीने की सैलरी के 23 लाख रूपये कॉलेज को वापस लौटाए - जानें वजह

College Teacher Returns Salary: बिहार के मुजफ्फरपुर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, जहां एकतरफ हमारे देश में सरकारी स्कूलों और कॉलेजों के शिक्षकों पर बिना अपनी ड्यूटी के फर्ज को पूरा करने के बावजूद मोटी तनख्वाह लेते रहने का आरोप लगता रहता हैं।

वहीं, इसी बीच बिहार के मुजफ्फरपुर के नीतीशेश्वर कॉलेज में एक प्रोफेसर ने नैतिकता और अपने पद की गरिमा की एक ऐसी मिसाल पेश की, जिसके बाद से हर कोई शख्स उनकी जमकर तारीफ कर रहा है।

3 साल की कमाई लौटाई 

दरअसल, यह घटना बिहार के नीतीशेश्वर कॉलेज में एक असिस्टेंट प्रोफेसर से जुड़ी है, जो कि हिंदी विषय के प्रोफेसर है। उन्होंने 2019 से लेकर अबतक यानी 33 महीनों की अपनी प्रोफेसर की नौकरी से मिले कुल वेतन की कमाई (23 लाख 82 हजार 228 रुपये) को कॉलेज को वापस कर दिया है।

पैसे वापिस करने की बताई वजह 

यह बात पढ़ने या सुनने में काफी अचम्भित करने वाली बात है। दूसरी ओर, जिन असिस्टेंट प्रोफेसर ने ये पैसे वापिस किये है, उनका नाम  लल्लन कुमार है। उन्होंने इन पैसों को वापिस करने की वजह बताते हुए मीडिया से कहा, “ इन 33 महीनों में कोई भी छात्र एक भी कक्षा के लिए नहीं आया और जब सीखने वाला कोई नहीं है तो वेतन क्यों?, इसलिए मेरी अंतरात्मा मुझे बिना पढ़ाए वेतन लेने की अनुमति नहीं देती है।” 

इसके साथ ही लल्लन ने आगे कहा, कोरोना महामारी के दौरान हिंदी की ऑनलाइन क्लास में गिने-चुने ही छात्र आते थे। अगर मैं पांच साल तक बिना पढ़ाए वेतन लेता हूं, तो मेरे लिए यह अकादमिक मौत होगी।”

कुलपति को लिखा पत्र

इसके अलावा लल्लन कुमार ने अपना वेतन वापस करते हुए कुलपति को एक पत्र लिखा है, जिसमे उन्होंने लिखा, जब पढ़ाया ही नहीं तो वेतन कैसे ले सकता हूं. उन्होंने आगे लिखा, मैं कॉलेज में 25 सितंबर 2019 से कार्यरत हूं। मुझे पढ़ाने की इच्छा है लेकिन स्नातक हिंदी विभाग में 131 विद्यार्थियों में से एक भी उपस्थिति नहीं होता है। मैं नीतीश्वर कॉलेज में अपने काम के प्रति कृतज्ञ महसूस नहीं कर रहा हूं। इसलिए अंतरात्मा की आवाज पर मैं नियुक्ति से अब तक का पूरा वेतन विश्वविद्यालय को वापस करता हूं।

Related Videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept