Bihar Yaas Cyclone Update: बिहार में चक्रवात यास के दौरान गिरा पुल, पार्टियों ने की जांच की मांग

Publish Date: 28 May, 2021
Bihar Yaas Cyclone Update: बिहार में चक्रवात यास के दौरान गिरा पुल, पार्टियों ने की जांच की मांग

Bihar Yaas Cyclone Update: 

रांची के तामार क्षेत्र में कांची नदी पर 3 साल पहले बनाया गया एक पुल 27 मई को प्रदेश में आए यास चक्रवात की वजह से हुई भारी बारिश की वजह से ढह गया था। अब इसपर राजनीतिक दलों ने इस हादसे की जांच की मांग की है। रांची जिले के तामार, बुंडू और सोनाहातु इलाकों को जोड़ने वाले हरडीह-बुधडीह पुल का निर्माण प्रदेश में पिछले एनडीए के राज के दौरान करोड़ों रुपये खर्च करके बनाया गया था। बता दें कि, पुल को जोड़ने वाली सड़कों का काम तो अभी पूरा नहीं हुआ था। साथ ही पुल का औपचारिक उद्घाटन भी नहीं हुआ था।


राज्य के कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक केशव महतो कमलेश ने उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। उन्होंने सीएम हेमंत सोरेन से पुल का निर्माण करने वाली कंपनी को ब्लैकलिस्ट करने और इंजीनियरों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की है। प्रदेश के भाजपा नेता विनय महतो धीरज ने भी पुल के ढहने की "औपचारिक रूप से उद्घाटन से पहले ही" उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।


पुल के गिरने की वजह से इलाके के लोगों को नदी के उस पार सोनाहाटू, सिल्ली क्षेत्रों में जाने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ रही है। इसी बीच, झारखंड में यास चक्रवात से 2 लोगों की मौत हो गई और लगभग 8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। पूर्वी सिंहभूम जिले में कई नदियों के पास निचले इलाकों में से कम से कम 5,000 लोगों को बाहर निकाला गया, जबकि 15,000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। प्रदेश आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल ने कहा, "रांची में भारी बारिश के कारण एक घर गिरने से दो लोगों की मौत हो गई, जबकि तामार में एक पुल ढह गया।" यास चक्रवात के असर से 27 मई से बिहार और झारखंड के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है। 


Related Videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept