BSP नेता मायावती ने शर्मनाक हार के बाद लिया बड़ा फैसला, कई दिग्गज नेताओं की पार्टी से होगी छुट्टी तो इन्हें मिलेगी बड़ी जिम्मेदारी- watch video

Publish Date: 28 Mar, 2022 |
 

BSP Meeting Review: इस बार उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में बसपा को मिली करारी हार के बाद बसपा अध्यक्ष मायावती ने कई अहम फैसले लिए है। उन्होंने रविवार को लखनऊ में हुई शीर्ष पदाधिकारियों की बैठक में बड़ा कदम उठाते हुए  उत्तर प्रदेश की कार्यकारिणी को भंग कर दिया है। मायावती ने बसपा उत्तर प्रदेश की पूरी कार्यकारिणी को भंग करने के साथ ही तीन चीफ कोआर्डिनेटर को नियुक्त किया है।

 

गुड्डू जमाली की हुई वापिसी 

इसी के साथ बसपा ने विधायक दल के नेता रहे गुड्डू जमाली की घर वापसी भी करा ली है। माना जा रहा है कि गुड्डू जमाली को आजमगढ़ लोकसभा उप चुनाव में बसपा का प्रत्याशी बनाया जाएगा। बता दें कि गुड्डू जमाली इस बार हुए यूपी विधानसभा चुनाव में आजमगढ़ के मुबारकपुर क्षेत्र से AIMIM के प्रत्याशी थे। AIMIM के गुड्डू जमाली ही ऐसे इकलौते प्रत्याशी थे, जिनकी जमानत बची है। आजमगढ़ लोकसभा की यह सीट अखिलेश यादव के इस्तीफे के बाद खाली हुई है। 

यह भी पढ़े: UP Cabinet 2.0 में अकेले मुस्लिम मंत्री बनाए गये Danish Azad के बारे में जानिए, जिन्हें बिना जीत के बाद भी मिली जगह

 

बसपा के अस्तित्व पर उठे सवाल 

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में केवल एक सीट ही मिलने के बाद मायावती की पार्टी बसपा के अस्तित्व पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। हालांकि यह सवाल साल 2019 के बाद से ही बसपा पर शुरू हो गये थे। लेकिन इस बार मिली करारी हार के बाद अब बसपा पर निशाना ज्यादा तेज हो गया है। इस बार बसपा को कुल 13 फीसदी ही वोट मिले है जबकि यूपी की कुल 403 सीटों में से बसपा सिर्फ 1 ही सीट अपने नाम कर सकी है। ऐसे में राष्ट्रीय स्तर की पार्टी को अब अपने अस्तित्व को न केवल बचाने बल्कि उसे बनाए रखने की भी बड़ी चुनौती है।

यह भी पढ़े: जानिए कौन है कैबिनेट मंत्री Baby Rani Maurya, जिन्होंने Swami Prasad पर साधा निशाना 

 

तीनों कोआर्डिनेटर पर टिकी उम्मीदें 

मायावती ने प्रदेश अध्यक्ष तथा जिला अध्यक्ष को छोड़कर उत्तर प्रदेश बसपा की सारी कार्यकारणी को भंग किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश के लिए तीन चीफ कोआर्डिनेटर बनाए हैं। मेरठ के मुनकाद अली, बुलंदशहर के राजकुमार गौतम तथा आजमगढ़ के विजय कुमार को प्रदेश के सभी कोआर्डिनेटर रिपोर्ट करेंगे। यह तीनों सभी कोआर्डिनेटर पर निगाह रखेंगे।  

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept