Bulldozer in Shaheen Bagh: दिल्ली के शाहीन बाग में अवैध निर्माण पर जमकर चल रहा बुलडोजर, आगे आये अमानतुल्लाह खान- देखें वीडियो

Publish Date: 09 May, 2022 |
 

Bulldozer in Shaheen Bagh: दिल्ली के एमसीडी द्वारा शाहीन बाग में आज सुबह 11 बजे से अतिक्रमण और अवैध निर्माण के खिलाफ दक्षिण दिल्ली नगर निगम की कार्रवाई जारी है। वहीं, इसी बीच अमानतुल्लाह खान इस अतिक्रमण में शामिल होने पहुंच गये, तो  कांग्रेस नेता इस कार्रवाई के विरोध में पहुंच गये।

विधायक अमानतुल्लाह खान ने अतिक्रमण को लेकर कही ये बात 

मौके पर पहुंचे अमानतुल्लाह खान (विधायक, AAP) ने कहा, मैं तीन दिन पहले आया था और लोगों से आह्वान किया था और लोगों ने खुद अतिक्रमण हटा दिया। एक मस्जिद के बाहर वजूखाना था। उसे भी हटवा दिया। अब एमसीडी बताए कि कहां पर अतिक्रमण है। ये पीडब्ल्यूडी का रोड है। लोकल पुलिस भी है। मुझसे बात करें। हम खुद अतिक्रमण को हटवा देंगे”। इस दौरान अमानतुल्लाह खान ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए ये भी कहा कि एमसीडी की यह कार्रवाई राजनीतिक स्टंट के लिए की जा रही है। 

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की याचिका को कोर्ट ने किया ख़ारिज 

आपको बता दें कि एसडीएमसी द्वारा चलाया जा रहा बुलडोजर लगातार इलाके से अतिक्रमण हटाने का काम कर रहा है। हालांकि, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने इसको रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका डाली थी, जिस पर कोर्ट आज दोपहर 2 बजे सुनवाई करने को सहमत भी हो गया था। लेकिन दक्षिणी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में सीपीआइ (एम) द्वारा अतिक्रमण को हटाने के याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने विचार करने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने याचिकाकर्ता को हाईकोर्ट जाने को कहा है। कोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा कि हम तभी सुनवाई करेंगे जब प्रभावित पक्ष अदालत में आएंगे।

 

भारी सुरक्षा बल के बीच ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू

दूसरी तरफ दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में अतिक्रमण हटाने के लिए भारी सुरक्षा बल तैनात की गयी है और भारी सुरक्षा बल के बीच ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। दिल्ली पुलिस द्वारा सुरक्षा मुहैया कराए जाने के ऐलान के बाद सोमवार 11 बजे से अतिक्रमण के खिलाफ SDMC का बुलडोजर गरजने लगा है।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept