पहलवानों के शोषण पर क्या बोले दंगल वाले महावीर फोगाट | Mahavir Phogat Interview | Wrestler Protest

Publish Date: 20 Jan, 2023 |
 

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण और तानाशाही रवैये जैसे गंभीर आरोप लगे है। धरना देने वाले पहलवानों के एक दल ने खेलमंत्रालय से भी बात की लेकिन वो सभी मीटिंग के बाद संतुष्ट नजर नहीं आए। विनेश फोगाट ने मीडिया से कहा कि हम डटे हैं और तब तक नहीं हटेंगे जब तक कि कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह अपने पद से नहीं हटते। हमें तो जान का भी खतरा है, हमने पुलिस का प्रोटेक्शन भी नहीं लिया है लेकिन फिर भी हम हिम्मत और सम्मान के साथ चल रहे हैं क्योंकि हमें पता है कि हम सच बोल रहे हैं। आज अध्यक्ष जी के घर पर ताला लग लग गया है, उसके बाद भी सरकार को समझ जाना चाहिए कि कौन सही है और कौन गलत है। हम चाहते हैं कि बृजभूषण सिंह इस्तीफा दें और उन्हें जेल हो, हम केस दर्ज कराएंगे। इस सबको लेकर महावीर फोगाट भी मैदान में उतर चुके हैं उन्होंने मीडिया से बात की। 

 

महावीर फोगाट ने कहा कि राजनीतिक व्यक्ति को इस पद रहने का अधिकार नहीं 

महावीर फोगाट ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भ्रष्ट इंसान को पद पर बने रहना का कोई अधिकार नहीं है, इस पद के लिए एक अच्छा पहलवान या एथलीट आना चाहिए, जो कि खेल और पद की गरिमा दोनों के साथ न्याय कर सके, राजनीतिक व्यक्ति को इस पद पर रहने का कोई हक नहीं है, लड़कियां आवाज उठाएं तो भविष्य में ऐसी धमकियां टल सकती हैं, इस चीज पर फैसला जल्द से जल्द लेना चाहिए और ये सुनिश्चित होना चाहिए कि आगे से महिला रेसलरों के साथ ऐसी घटना भविष्य में दोबारा ना हो।

 हम रेसलिंग फेडरेशन को भंग करवाना चाहते हैं-साक्षी मलिक

 भारतीय पहलवान साक्षी मलिक ने कहा कि हमें मीटिंग में सिर्फ आश्वासन दिया गया, किसी तरह का ठोस कदम या एक्शन लेने की बात नहीं की गई। हम रेसलिंग फेडरेशन को भंग करवाना चाहते हैं।

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बजरंग पूनिया ने कानून का सहारा लेने की बात कही

 खेलमंत्रालय के साथ बात करने के बाद बजरंग पूनिया भी खुश नज़र नहीं आए। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि फेडरेशन को बंद किया जाए क्योंकि फेडरेशन में वे अपने ही लोगों को बिठाएंगे। अगर इसका समाधान जल्दी नहीं निकला तो हम कानून का भी सहारा लेंगे, हमारी लड़ाई सरकार के खिलाफ नहीं बल्कि ई फेडरेशन के खिलाफ है, हमने अपनी बात रखी है, हम चाहते हैं कि इसके खिलाफ एक्शन हो।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept