DRDO Hypersonic Missile : DRDO ने हाइपरसोनिक स्पीड फ्लाइट का किया सफल परीक्षण, अमेरिका रूस चीन की बराबरी में खड़ा हुआ भारत – Watch Video

Publish Date: 07 Sep, 2020
 

DRDO Hypersonic Missile : केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को स्वदेशी में विकसित Scramjet Propulsion System का उपयोग करते हुए Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle के सफल परीक्षण के लिए DRDO की सराहना की। भारत के एचएसटीवीडी वाहन का सफलतापूर्वक परीक्षण करना आत्मानबीर भारत की ओर एक बड़ा कदम माना जा रहा है। Hypersonic Missile तकनीक का सफल परिक्षण करने वालों की सूची में  भारत US ,Russia , China के बाद यह तकनीक हासिल करने वाला चौथा देश बन गया है। DRDO ने यह परीक्षण Odisha के वीलर आइलैंड स्थित Dr. APJ Abdul Kalam Launch Complex से किया। राजनाथ सिंह ने कहा कि DRDO द्वारा किए गए इस सफल परीक्षण के साथ, सभी महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियां अब अगले चरण की प्रगति के लिए स्थापित हो गई हैं। राजनाथ सिंह ने ट्विटर पर लिखा कि, '' @DRDO_India ने आज स्वदेशी रूप से विकसित स्क्रैमजेट प्रोपल्शन सिस्टम का उपयोग करके Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। इस सफलता के साथ, सभी महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियां अब अगले चरण की प्रगति के लिए स्थापित हो गई हैं। रक्षा अनुसंधान और DRDO ने सोमवार को सुबह 11:03 बजे Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle (HSTDV) के उड़ान परीक्षण के साथ हाइपरसोनिक एयर-ब्रीदिंग स्क्रैमजेट तकनीक का सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया, जो व्हीलर द्वीप से एपीजे अब्दुल कलाम लॉन्च कॉम्प्लेक्स से दूर है। ओडिशा का तट। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा "वाहन ने सभी पूर्व-निर्धारित पैरामीटर्स पर सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया, जिसमें 2500 डिग्री सेल्सियस से अधिक के दहन तापमान और हवा की गति को संभालने की क्षमता भी शामिल है।"  आपको बता दें कि, इससे पहले जून 2019 में इसका पहला परीक्षण किया गया था। इसका इस्तेमाल हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल बनाने और काफी कम खर्चे में सैटेलाइट लॉन्चिंग में की जाएगी। भारत उन चुनिंदा देशों के क्लब में शामिल हो गया है, जिनके पास यह तकनीकी है। अमेरिका, रूस, और चीन के बाद भारत इस तकनीक को विकसित करने वाला चौथा देश है। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept