जानिए 125 साल के पद्मश्री पुरस्कार विजेता Swami Sivananda के बारे में, जिन्हें राष्ट्रपति कोविंद ने किया सम्मानित- watch video

Publish Date: 23 Mar, 2022 |
 

Swami Sivananda received Padma Shri Award: राजधानी दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने  बीते सोमवार को पद्म पुरस्कारों का वितरण किया। इस दौरान उन तमाम लोगों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जिनके नाम का ऐलान कुछ हफ्ते पहले किया गया था। वहीं इस बार पद्म पुरस्कारों के वितरण के समय एक ऐसा पल सामने आया। जिसे देखकर हर एक भारतवासी कायल हो गया।

 

PM मोदी और राष्ट्रपति कोविंद को किया झुककर प्रणाम 

दरअसल, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जब 125 साल के योग गुरु स्वामी शिवानंद को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया। तो शिवानंद ने पुरस्कार लेने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झुककर प्रणाम किया। इसके बाद पीएम मोदी ने भी उन्हें उठकर प्रणाम किया। यही नही, जब शिवानंद राष्ट्रपति से सम्मान लेने पहुंचे तो वह महामहिम के सामने भी झुक गए। ऐसे में राष्ट्रपति ने भी शिवानंद का हाथ पकड़कर उन्हें गले लगा लिया। शिवानंद की इस उम्र में ये जज्बा और जूनून को पूरा देश सलाम कर रहा है। वहीं अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है।


कौन है स्वामी शिवानंद? 

आपके मन में यह सवाल जरुर उठ रहा होगा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जिन स्वामी शिवानंद को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया है। वे आखिर कौन है? उन्होंने आखिर ऐसा क्या किया है जिसके बलबूते उन्हें ये सम्मान दिया गया है? तो आपको बता दे कि स्वामी शिवानंद एक जाने माने योग गुरु है।उनकी योग के प्रति साधना और तपस्या का ही यह नतीजा है कि वे 125 साल की उम्र के बावजूद भी सही सलामत चल पा रहे है। उनके शरीर को देखते हुए उनकी उम्र का आकलन करना बहुत ही मुश्किल है।

 

समाजसेवी और युवाओं की प्रेरणा भी है स्वामी शिवानंद

इसके साथ ही स्वामी शिवानंद को कई महत्वपूर्ण खिताबों से भी अभी तक नवाजा जा चुका है। स्वामी शिवानंद न केवल एक योग गुरु बल्कि युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत भी है। साथ ही वे एक समाजसेवी के रूप में भी कार्य करते है। दरअसल, पिछले 50 सालों से स्वामी शिवानंद पुरी में 400-600 कुष्ठ प्रभावित भिखारियों से व्यक्तिगत रूप से उनकी झोपड़ियों में मिल कर उनकी सेवा कर रहे हैं।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept