Lunar Eclipse 2022: चंद्रग्रहण के कितने होते हैं प्रकार, क्या होता है ब्लड मून- देखें वीडियो

Publish Date: 16 May, 2022 |
 

Blood Moon 2022: 16 मई को इस साल का पहला चंद्रग्रहण लगा और चंद्र ग्रहण लाल रंग में नजर आया, जिसे ब्लड मून भी कहा जाता है। वहीं, वैज्ञानिक व धार्मिक दृष्टि से चंद्र ग्रहण एक अहम घटना होती है। इस दिन बुद्ध पूर्णिमा भी है।सूर्य और चंद्रमा के बीच जब पृथ्वी आ जाती है तो चंद्र ग्रहण की घटना होती है। इस समय में पृथ्वी की छाया चंद्रमा की रोशनी को ढक लेता है। जब सूर्य की रोशनी पृथ्वी के करीब से गुजर कर चांद तक पहुंचती है तो इसका नीला और हरा रंग वातावरण में बिखर जाता है, क्योंकि इनकी वेवलेंथ कम होती है। जबकि लाल रंग की वेवलेंथ ज्यादा होती है और वो चंद्रमा तक पहुंच पाता है। ऐसे वक्त चंद्रमा लाल रंग का दिखाई देने लगता है।

 

तीन प्रकार का होता है चंद्रग्रहण 

इसके अलावा आपको बता दें कि चंद्र ग्रहण तीन प्रकार के होते हैं। इनमे सबसे पहले उपछाया ग्रहण है और यह तब लगता है, जब चंद्रमा केवल पृथ्वी के उपछाया को पार करता है। जबकि दूसरा ग्रहण आंशिक ग्रहण होता है और यह तब लगता है, जब चंद्रमा आंशिक रूप से पृथ्वी की छाया की प्रच्छाया में आ जाता है। तीसरा और अंतिम ग्रहण पूर्ण ग्रहण होता है और यह तब लगता है.जब  चंद्रमा पूरी तरह से पृथ्वी की छाया की प्रच्छाया में आ जाता है।

 

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept