PM Narendra Modi अपने विदेशी दौरे से भारतवासियों के लिए लाए ख़ास बहुत ख़ास उपहार- देखें वीडियो

Publish Date: 05 May, 2022 |
 

Modi Visit News: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) का तीन दिवसीय यूरोप दौरा खत्म हो गया है। इसी के साथ वे भारत वापस लौट आए हैं। यूरोप दौरे की शुरुआत जर्मनी से हुई थी जबकि समापन फ्रांस में हुआ। जर्मनी के बाद पीएम डेनमार्क और फिर फ्रांस गए थे। इस दौरान कई समझौतों पर मुहर लगी है।

 

हरित उर्जा के क्षेत्र में होगा बढ़ावा 

मोदी की इस यात्रा में भारत और जर्मनी के बीच कई मुद्दों पर करार हुए हैं। जिनमे दोनों देशों के बीच हरित ऊर्जा को लेकर बड़ा समझौता हुआ है। दरअसल, पीएम मोदी हरित उर्जा के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए कई सालों से जुटे हुए है और ऐसे में उन्होंने जर्मनी से इस इस क्षेत्र में साथ बढ़ाने को लेकर अहम डील की। जिसके अंतर्गत स्वच्छ ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए भारत को 2030 तक 10.5 अरब डालर की सहायता मिलेगी। 

 

ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स का गठन

दरअसल, इस डील के पीछे की वजह यह भी है कि पिछले कई सालों में ऊर्जा के स्वच्छ और अक्षय साधनों में ग्रीन हाइड्रोजन अच्छा विकल्प बनकर सामने आया है। साथ ही जलवायु परिवर्तन से लड़ने की दिशा में इसकी अहमियत को देखते हुए दोनों देशों ने ग्रीन हाइड्रोजन टास्क फोर्स गठित करने का फैसला लिया है। टास्क फोर्स के माध्यम से दोनों देश इस दिशा में मिलकर प्रयास करेंगे। दोनों देशों ने जलवायु सुरक्षा एवं जैव विविधता संरक्षण के क्षेत्र में साझेदारी के लिए भी संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किया।

 

जी-7 बैठक में मोदी को शामिल होने का न्योता 

हरित उर्जा के क्षेत्र में बढ़ावा देने के साथ ही जर्मन चांसलर ओलाफ शुल्ज ने मोदी को जर्मनी में जून में होने वाली जी-7 बैठक में शामिल होने का न्योता दिया है। शुल्ज ने कहा, "दुनिया तभी विकसित हो सकती है, जब हम यह स्पष्ट कर दें कि दुनिया कुछ ताकतवर देशों के इशारे पर नहीं बल्कि भविष्य के रिश्तों पर ही चलेगी।"

 

डेनमार्क में कई समझौतों पर लगी मुहर 

वहीं, जर्मनी के बाद डेनमार्क पहुंचे मोदी का डेनमार्क प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिक्सन ने पीएम मोदी का जोरदार स्वागत किया। फ्रेडरिक्सन ने इंडिया-डेनमार्क बिजनेस फोरम में भाग लिया। साथ ही दोनों देशों के बीच व्यापार और पर्यावरण संबंधी मुद्दों समेत द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा हुई। इस यात्रा की सबसे खास बात यह रही कि  भारत और डेनमार्क के बीच 9 समझौतों पर मुहर भी लगी। जिसमे हरित शिपिंग, पशुपालन, डेयरी, जल प्रबंधन, ऊर्जा, सांस्कृतिक आदान-प्रदान जैसे 9 क्षेत्रों में करार शामिल हैं।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept