Navratri 2022: देश के विभिन्न हिस्सों में कैसे मनाया जाता है नवरात्रि का त्योहार?

Publish Date: 30 Sep, 2022 |
 

Navratri 2022: सोमवार (26 सितंबर) से नवरात्रि का पावन पर्व शुरु हो गया है, और ऐसे में देशभर में इसकी धूम देखने को मिल रही है। हिंदू धर्म में नवरात्रि के त्योहार का विशेष महत्व है। जिसकी वजह यह है कि नवरात्रि के दौरान लोग देवी दुर्गा के नौ रूपों की विधि-विधान से पूजा करते हैं। नवरात्रि का पर्व देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है। खासकर कि गुजरात से लेकर तमिलनाडु राज्य में नवरात्रि का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। 


West Bengal

दुर्गा पूजा के लिए पश्चिम बंगाल दुनियाभर में प्रसिद्ध है। यहां भव्य तरीके से मां का आह्वान किया जाता है। इस मौके पर विधि विधान पूर्वक मां की पूजा उपासना की जाती है। ऐसा कहा जाता है कि जिस तरह महाराष्ट्र में गणपति पूजा की जाती है। ठीक उसी प्रकार बंगाल में दुर्गा पूजा मनाई जाती है। हर घर में कलश स्थापना कर मां की पूजा की जाती है। इसके लिए लोगों की प्राथमिकता पश्चिम बंगाल में नवरात्रि मनाने की रहती है। इस दौरान महिलाएं पारंपरिक साड़ी पहनती हैं। ढाक की धुन पर धुनुची नृत्य किया जाता है और जगह-जगह भव्य पंडाल लगाए जाते हैं। 

Gujarat

नवरात्रि के त्योहार का सेलिब्रेशन हो और ऐसे में गुजरात का नाम न आएं, ऐसा संभव ही नहीं है। दरअसल, गुजरात में नवरात्रि के दौरान बड़ी ही धूमधाम से गरबा खेला जाता है। ये देवी के नौ रूपों की आराधना के लिए खेला जाता है। गरबा खेलने के दौरान एक दीपक वाले मिट्टी के बर्तन के आसपास महिलाएं नृत्य करती हैं। इसके अलावा महिलाएं और पुरुष सजी हुई बांस की डंडियों के साथ भी डांस करते हैं।  गुजरात में नवरात्रि के मौके पर डांडिया का आयोजन होता है। नवरात्रि के नौ दिनों में आरती के साथ सेलिब्रेशन शुरू होता है।

Tamil Nadu

नवरात्र में अगर आप बड़ी ही धूमधाम से माता की भक्ति के रंग में रंगना चाहते है, तो तमिलनाडु आपके लिए एक अच्छी जगह हो सकती है। दरअसल, यहां नवरात्र को बोमई गोलू या नवरात्रि गोलू नाम से सेलिब्रेट किया जाता है। जिसमें यहां बनने वाली ट्रेडिशनल गुड़ियां दिखने लगती हैं। इन गुड़ियाओं की झांकी सजाई जाती है। लोग अपने घरों में इस दौरान दिए जलाते हैं और मंगल गीत गाते हैं।

Maharashtra

महाराष्ट्र में भी नवरात्र का सेलिब्रेशन बड़े मजेदार तरीकें से होता है। इस दौरान यहां की महिलाएं सुहागिन महिलाओं को घर बुलाती हैं और उनका सिन्दूर, बिंदी, कुमकुम से श्रृंगार करती हैं।

Kerala

केरल में लोग नवरात्र में मां सरस्वती की पूजा करते हैं। ऐसा माना जाता है मां सरस्वती की पूजा करने से ज्ञान और सद्बुधि प्राप्त होती है।
 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept