Noida IAS Officer in Paralympic : देश के इकलौते DM जो Paralympic में भारत का करेगा प्रधिनितव

Publish Date: 24 Aug, 2021
Google Noida IAS Officer in Paralympic : देश के इकलौते DM जो Paralympic में भारत का करेगा प्रधिनितव

 

Noida IAS Officer in Paralympic : आज यानि 24 अगस्त से टोक्यो पैरालंपिक का आगाज हो रहा है। टोक्यो पैरालंपिक में यूपी के गौतमबुद्धनगर के डीएम सुहास एल वाई (Noida DM Suhas LY) भी खेलते हुए दिखने वाले हैं। सुहास एल वाई देश के पहले आईएएस अफसर होंगे, जो टोक्यो पैरालंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने जा रहे हैं। सुहास एल वाई साल 2007 बैट के आईएएस अफसर हैं। इसके साथ ही दुनिया के दूसरे नंबर के पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

2007 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी, नोएडा डीएम सुहास एलवाई 2020 में शामिल होने के बाद से COVID-19 महामारी से लड़ रहे हैं। अब जब उन्हें टोक्यो में होने वाले आगामी ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया है, तो वह हैं देश के लिए मेडल जीतने की ठानी है

मीडिया से बात करते हुए सुहास एलवाई कहा कि,  "पिछले कुछ वर्षों में हमने देखा है कि छोटे अंतर विजेताओं और हारने वालों के बीच अंतर करते हैं। मैं मिलीमीटर के अंतर से गेम हार गया हूं और सेंटीमीटर से जीता हूं। जब मैं टोक्यो में पूरा करता हूं, तो मुझे पता है कि हर खिलाड़ी वहां पदक जीतने की उम्मीद में होगा।"

जानें कौन है सुहास एल यतिराज? (Who is Suhas L Yathiraj?)

सुहास लालिनाकेरे यतिराज कर्नाटक से हैं। उनके पिता एक सरकारी कर्मचारी थे, जिसका मतलब था कि उन्हें काम के सिलसिले में यात्रा करनी पड़ती थी। वह एक ले में जन्मजात विकृति के साथ पैदा हुआ थे।  हालाँकि, उनके बड़े सपने थे और उनकी विकलांगता के कारण वे कभी प्रभावित नहीं हुए। सुहास ने 2004 में कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की लेकिन बाद में नौकरशाह बनने का फैसला किया। वह 2007 में भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) में शामिल हुए और वर्तमान में उत्तर प्रदेश के गौतम बौद्ध नगर के जिला मजिस्ट्रेट हैं।

2007 बैच के आईएएस अधिकारी सुहास अभी नोएडा के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) के रूप में तैनात हैं। वह पहले लखनऊ में उत्तर प्रदेश के योजना विभाग में विशेष सचिव के पद पर तैनात थे। एक समर्पित अधिकारी होने के साथ-साथ उन्हें राज्य के सर्वश्रेष्ठ पैरा खिलाड़ी का खिताब उनके नाम हैं।

 

2018 में, उन्होंने इंडोनेशिया में आयोजित पैरालंपिक एशियाई खेलों में भाग लिया और कांस्य पदक जीता था। इसके अलावा, उन्होंने चीन में आयोजित पैरालंपिक बैडमिंटन चैम्पियनशिप भी जीती है।

Related Videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept