Parliament winter Session 2021 : हंगामे की भेंट चढ़ी राज्‍यसभा, निलंबन के खिलाफ संसद परिसर में धरने पर बैठे निलंबित राज्यसभा सदस्य

Publish Date: 01 Dec, 2021 |
 

Parliament winter Session 2021: राज्यसभा के 12 सांसदों को निलंबित करने का मुद्दा लगातार गरमाता जा रहा है। संसद के मानसून सत्र के दौरान राज्यसभा में ‘अशोभनीय आचरण’ के लिए निलंबित किए गए 12 सांसदों को निलंबित किया गया था। इसकी भेंट ना केवल संसद का शीतकालीन सत्र चढ़ रहा है बल्कि इन निलंबित सांसदों ने अब संसद भवन में गांधी की प्रतिमा के सामने धऱना देना भी शुरू कर दिया है।

संसद परिसर में धरने पर बैठे निलंबित राज्यसभा सदस्य

सूत्रों ने बताया कि वे रोजाना सुबह 10 बजे से शाम छह बजे तक धरना प्रदर्शन करेंगे।उनका विरोध हर हफ्ते सोमवार से शुक्रवार तक संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन 23 दिसंबर तक धरना जारी रहेगा।एक सूत्र ने कहा, "लोकसभा और राज्यसभा के तृणमूल सांसद संसदीय लोकतंत्र को बचाने की कोशिश में संसद से निलंबित किए गए विभिन्न दलों के 12 सांसदों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए पूरे सप्ताह धरना स्थल पर जाएंगे।"

सांसद अगस्त में मानसून सत्र के दौरान सदन के पटल पर हुए हंगामे को लेकर राज्यसभा से 12 विपक्षी सदस्यों के निलंबन का विरोध कर रहे हैं, जिसके कारण सत्र को निर्धारित समय से दो दिन पहले समाप्त करना पड़ा था। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने मंगलवार को कहा कि 12 सांसदों का निलंबन वापस नहीं लिया जाएगा। “जिन सदस्यों ने सदन के खिलाफ बेअदबी की थी, उन्होंने पछतावा नहीं दिखाया है। इसलिए, मुझे लगता है कि विपक्ष की अपील विचार करने लायक नहीं है। दिन में उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए, संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को लिखा और कहा कि संसद का मानसून सत्र "हमारे संसदीय लोकतंत्र के इतिहास में सबसे निंदनीय और शर्मनाक सत्र" था।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept