Punjab Assembly Election 2022 : 1.93 करोड़ खर्च कर बनाया साइकिल ट्रैक क्यों बन गया कूड़े का अड्डा?

Publish Date: 18 Jan, 2022 |
 

Punjab Election 2022।1.93 करोड़ में बना साइकिल ट्रैक, कूड़े से पटा :
पंजाब में 20 फरबरी से विधानसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में अमृतसर जिले का एक साइकिल ट्रैक खूब चर्चा में है। 
पंजाब के विधानसभा हलका उत्तरी क्षेत्र के पोर्श एरिया, रंजीत एवेन्यू क्षेत्र में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत 1.93 करोड़ की लागत से साइकिल ट्रैक बनाया गया।साइकिल ट्रैक बनकर तो तैयार हो गया लेकिन कूड़े से पटा हुआ है।पंजाब की जनता के लिए साइकिल से सुगम यात्रा बनाने के लिए, यह एक महत्त्वपूर्ण निर्णय था।साइकिल ट्रैक जनता के टैक्स से बनकर को तैयार हो गया, मगर किसी का काम में नहीं आ रहा।

सांसद और विधायक ने किया था उद्घाटन :

जून 2020 में स्मार्ट सिटी मिशन के तहत सांसद गुरजीत सिंह और  विधायक सुनील दत्ती ने इसका उद्घाटन किया।इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन तो कर दिया गया, लेकिन जनता के लिए पूर्ण रूप समर्पित नहीं हो पाया है।लगभग 2 करोड़ के लागत से बना ट्रैक, कूड़े की ढेर में गायब हो गया है।किसी भी प्रकार की कोई सफाई न होने की वजह से, लोग इसका इस्तेमाल नहीं कर पा रहे।

साइकिल ट्रैक पर लोगों की राय :

हरदीप सिंह का मानना है कि, इतने रुपये खर्च करने का कोई मतलब नहीं, जब साइकिल ट्रैक के बजाय रोड पर ही चल रहे।लोगों को मजबूरी में सड़क पर साइकिल चलाने पड रहा, जिसमें कि एक्सीडेंट का भी खतरा होता है।साइकिल चलाने से फिजिकल भी, आदमी फिट रहता है।अर्जुन का भी कहना है कि सरकार ने जो भी रुपये खर्च की है, अगर उसका इस्तेमाल नहीं हो रहा, फिर वो पैसों की बर्बादी है।ऐसे में सरकार को, इसे जल्द से जल्द साफ़ सफाई कराकर शुरू करवाना चाहिए।

ट्रैक की खासियत:

यह ट्रैक एमके होटल टी-प्वाइंट से शुरू होकर रणजीत एवेन्यू पुलिस थाना चौक से होते हुए डिफेंस कालोनी रोड की ओर मुड़ता है और फिर बेअंत पार्क को जाती रोड की ओर मुड़कर, ओल्ड जेल रोड, एमके होटल टी प्वाइंट से जोड़ा गया है। 
ट्रैक की चौड़ाई 2 से 3.5 मीटर रखी गई है। इसके साथ ही एक मीटर चौड़ी ग्रीन बेल्ट मुख्य सड़क से इसे अलग करेगी। वहीं ट्रैक को एक खास रंग से रंगा गया है, ताकि राहगीरों को इसका पता चल सके। ट्रैक के इर्द-गिर्द फुटपाथ, स्ट्रीट वेंडिग जोन, स्ट्रीट फर्नीचर तथा पार्किंग स्थल बनाए गए है। ट्रैक के रूट में जानकारी के लिए साइन बोर्ड भी लगाए गए हैं।
 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept