Raksha Bandhan 2022: भद्राकाल में राखी ना बांधने के पीछे क्या है कारण, जानें भद्रा कब से कब तक

Publish Date: 09 Aug, 2022 |
 

Raksha Bandhan 2022: रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक है।इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर रंग-बिरंगी राखी बांधती हैं। इसके साथ ही बहनें अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं। इस अवसर पर भाई भी अपनी बहन की रक्षा का वचन देता है।

लोगों के मन में है रक्षाबंधन की तारीख को लेकर भ्रम

वहीं, दूसरी तरफ इस बार रक्षा बंधन का त्योहार 11 और 12 अगस्त यानी दो दिन को पड़ रहा है। जिसकी वजह यह है कि इस बार सावन पूर्णिमा तिथि दो दिन है और 11 अगस्त यानी पूर्णिमा के पहले  दिन भद्रा का साया भी रहने वाला है। जिसके चलते लोगों के मन में भ्रम है कि रक्षाबंधन का पर्व 11 या 12 अगस्त को मनाया जाए।

इस वजह से नही बांधी जाती राखी 

दूसरी ओर, धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भद्राकाल (Bhadra Kaal) में किये गये कार्यों को शुभ नही माना गया है। जिसकी वजह से इस दौरान शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। यही कारण है कि इस बार पूर्णिमा तिथि पर पड़ रही भद्राकाल में राखी बांधने को लेकर लोगों के मन में डर भी बैठा हुआ है।

जिसके पीछे यह कथा है कि एक बार रावण ने अपनी बहन से भद्राकाल में राखी बंधवाई थी। जिसका अशुभ परिणाम रावण को भुगतना पड़। रावण की पूरी लंका का विनाश हो गया। मान्यता है कि तब से लेकर अबतक कभी भी भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जाती है।

इस समय बांध सकते है राखी 

ऐसे में सवाल उठता है कि राखी बांधने का सही समय क्या है? तो आपको बता दे कि सावन मास की पूर्णिमा 11 अगस्त को 10:39 पर शुरू हो रही है। जो 12 अगस्त को सुबह 7:05 पर समाप्त होगी। जबकि भद्रा सुबह से शुरू होकर रात 8:51 पर समाप्त हो रही है। इसके बाद बहने भाई को राखी बांध सकती है। लेकिन हिंदू धर्म के अनुसार सूर्यास्त के बाद शुभ कार्य को करने की मनाही होती है। इसलिए 12 अगस्त को राखी का त्योहार शुभ माना जा रहा है। 12 अगस्त को पूर्णिमा सुबह 7:05 तक रहेगी। इस समय तक राखी बांधना शुभ रहेगा। 

पूंछ भद्रा में बांधी जा सकती है राखी 

ज्योतिष आचार्यो के अनुसार, 11 अगस्त को दिनभर भद्रा रहेगी। ऐसे में राखी बांधना शुभ नही होता है। लेकिन पूंछ भद्रा के समय राखी बांधी जा सकती है। पूंछ भद्रा 11 अगस्त को शाम 05:17 से 6:18 मिनट तक है। ऐसे में इस अवधि में राखी बांधना शुभ होगा।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept