Ranji Trophy Final: रणजी ट्राफी में पहली बार इतिहास रचने उतरी मध्य प्रदेश की टीम, तो मुंबई की टीम भी है जीत की प्रबल दावेदार

Publish Date: 22 Jun, 2022
Dainik Jagran Ranji Trophy Final: रणजी ट्राफी में पहली बार इतिहास रचने उतरी मध्य प्रदेश की टीम, तो मुंबई की टीम भी है जीत की प्रबल दावेदार

Ranji Trophy Final: बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडिमय में रणजी ट्रॉफी 2021-22 सीजन का फाइनल मुकाबला आज सुबह 9 बजे से शुरू हो गया है। यह फ़ाइनल मैच मुंबई और मध्य प्रदेश के बीच खेला जा रहा है। वहीं, मुंबई के कप्तान पृथ्वी शॉ ने फ़ाइनल मैच का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है। 

 

MP के पास पहली बार जीत दर्ज करने का सुनहरा मौका 

वहीं, इस बार का यह फ़ाइनल मुंबई से ज्यादा मध्य प्रदेश की टीम के लिए ज्यादा खास है। जिसकी वजह यह है कि मध्य प्रदेश की टीम  88 सालों में दूसरी बार रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची है। इससे पहले 23 साल पहले यानी 1998-99 सीजन में मध्य प्रदेश की टीम को कर्नाटक के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में इस बार मध्यप्रदेश के पास पहली बार इस ट्राफी को अपने नाम करने का सुनहरा मौका है। हालांकि, रणजी ट्राफी में 41 बार विजय रहने वाली टीम मुंबई की टीम को हराना मध्य प्रदेश के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नही है।  


मुंबई की प्लेइंग 11: पृथ्वी शॉ (कप्तान), यशस्वी जायसवाल, अरमान जाफर, सुवेद पार्कर, सरफराज खान, हार्दिक तमोरे (विकेटकीपर), शम्स मुलानी, तनुष कोटियान, धवल कुलकर्णी, तुषार देशपांडे और मोहित अवस्थी.

मध्य प्रदेश की प्लेइंग 11: यश दुबे, हिमांशु मंत्री (विकेटकीपर), शुभम शर्मा, रजत पाटीदार, आदित्य श्रीवास्तव (कप्तान), अक्षत रघुवंशी, सारांश जैन, कुमार कार्तिकेय, अनुभव अग्रवाल, गौरव यादव और पार्थ साहनी.

Related Videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept