Sawan 2022: सावन के दूसरे सोमवार पर बन रहे एक साथ तीन शुभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Publish Date: 25 Jul, 2022 |
 

Sawan 2022 Second Monday: हिंदू पंचांग के अनुसार, सावन का दूसरा सोमवार 25 जुलाई को पड़ रहा है। इस दिन सोम प्रदोष की तिथि भी पड़ रही है।। ऐसे में ये दिन और भी ज्यादा खास हो गया है। सावन का सोमवार के साथ-साथ प्रदोष व्रत भगवान शिव को समर्पित है।

सभी दुखों से मिलती है राहत 

इसके साथ ही इस दिन काफी खास योग बन रहे हैं। ऐसे में शिवजी के साथ माता पार्वती की पूजा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होगी और हर तरह के दुखों से निजात मिलेगी। सावन के दूसरे सोमवार को शाम के समय त्रयोदशी लग जाने से इस दिन सोम प्रदोष व्रत हो गया है। जानिए सावन के दूसरे सोमवार का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि।

शुभ मुहूर्त: 

सावन के पहले सोम प्रदोष व्रत में तीन शुभ बन रहे हैं। इसमें सबसे पहला शुभ योग 25 जुलाई को बन रहा है।जो सुबह 5.38 बजे से लेकर अगलने दिन यानी 26 जुलाई को दोपहर करीब सवा एक बजे तक अमृत सिद्धि योग रहेगा। वहीं, 24 जुलाई को दोपहर करीब दो बजे से 25 जुलाई को 3 बजकर 3 मिनट तक ध्रुव योग रहेगा। वहीं, प्रदोष व्रत के दिन सुबह 11.48 से 12.41 तक अभिजीत मुहूर्त रहेगा।

 

पूजा विधि:

  • सावन के दूसरे सोमवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद साफ वस्त्र धारण करें।
  • उसके बाद घर के मंदिर में दीपक जलाएं। 
  • भगवान शिव और माता पार्वती की मूर्ति का गंगाजल से अभिषेक करें। 
  • उसके बाद शिवलिंग और भगवान शिव को गंगाजल और दूध चढ़ाएं। 
  • शिवजी को सफेद फूल अर्पित करें। 
  • भगवान शिव को बेलपत्र, दही, शहद, तुलसी चढ़ाएं। 
  • अब भोलेनाथ को पांच प्रकार के फल चढ़ाए और भोग लगाएं। 
  • उसके बाद शिवजी की आरती करें। 
  • पूरे दिन सिर्फ सात्विक चीजें ही खाएं।
  • इस दिन ज्यादा से ज्यादा भगवान शिव का मंत्र जाप करें। (ॐ नमः शिवाय)
 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept