UP-Uttarakhand के कई Railway Stations और धार्मिक स्थलों को बम से उड़ाने की मिली धमकी, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां- देखें वीडियो

Publish Date: 10 May, 2022 |
 

Uttar Pradesh and Uttarakhand: भारत के दो राज्यों को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल, उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड (Uttar Pradesh and Uttarakhand) के कई रेलवे स्टेशनों और धार्मिक स्थलों को 21 मई (May) की तारीख वाले दिन  बम से उड़ाने (Bomb Threat) की धमकी भरा पत्र मिला है। जिसके बाद से दोनों ही राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। इस धमकी भरे पत्र को देखते हुए रेलवे ने अपने जीआरपी, आरपीएफ और स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर चेकिंग अभियान चलाया है। इसी के साथ सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट (Security Alert) पर हैं।

 

मुरादाबाद और हरिद्वार समेत कई स्टेशनों को उड़ाने की मिली धमकी 

वहीं, मिली जानकारी के मुताबिक बीते रविवार को यूपी के मुरादाबाद, बरेली और उत्तराखंड के मुख्य हरिद्वार और देहरादून रेलवे स्टेशन समेत कुल कई स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी मिली। जिसके बाद रुड़की के स्टेशन अधीक्षक को यह पत्र भेजा गया है।

 

पत्र भेजने वाले ने खुद को बताया जैश-ए-मुहम्मद का एरिया कंमाडर

वहीं, यह धमकी भरा पत्र भेजने वाले ने खुद को जैश-ए-मुहम्मद का एरिया कंमाडर सलीम अंसारी बताया है और उसने इन दो राज्यों के रेलवे स्टेशनों पर 21 मई को बम विस्फोट करने की बात कही है। इसके अलावा पत्र में 23 मई को उत्तराखंड के सीएम समेत हरिद्वार के कई धार्मिकस्थलों को भी बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। स्टेशन अधीक्षक ने आरपीएफ और जीआरपी के साथ ही मुरादाबाद के डीआरएम अजय नंदन को पूरे प्रकरण से अवगत करा दिया है।

 

अलर्ट मोड में आया प्रशासन

दूसरी ओर, धमकी भरा पत्र मिलने के बाद प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया है। प्रशासन ने सभी रेलवे और धार्मिक स्थलों पर सतर्कता बढ़ा दी है। इसके साथ ही रेल महकमा और प्रशासन के अधिकारी भी सतर्क हो गये  हैं और सभी रेलवे स्टेशनों पर चेकिंग अभियान तेजी से चलाया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लक्सर, रुड़की रेलवे स्टेशनों पर डॉग स्क्वॉड और बम निरोधक दस्ते द्वारा भी चेकिंग की गई। हालांकि, इस दौरान कोई संदिग्ध वस्तु या व्यक्ति नहीं मिला है। 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept