Ram Mandir Ayodhya: भारत सरकार और राम मंदिर ट्रस्ट ने नेपाल के पत्थर देने के प्रस्ताव को दी मंज़ूरी

Publish Date: 29 Jan, 2023 |
 

नेपाल के पूर्व उप प्रधानमंत्री और गृहमंत्री बिमलेन्द्र निधि ने राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के समक्ष पत्थर भेजने का प्रस्ताव रखा था | दरअसल मिथिला में बेटियों की शादी में ही नहीं बल्कि शादी के बाद भी अगर बेटी के घर में कोई शुभ कार्य हो रहा हो तो आज भी मायके से किसी न किसी रूप में कुछ न कुछ दिया जाता है |

इसी परंपरा के तहत बिमलेन्द्र निधि ने ट्रस्ट और उत्तर प्रदेश सरकार के साथ ही भारत सरकार के समक्ष ये इच्छा जताई और अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर में जनकपुर का और नेपाल का कोई अंश रहे इसके लिए प्रयास किए | भारत सरकार और राम मंदिर ट्रस्ट ने इसके लिए सहमति जता दी है | 

भारत सरकार और राम मंदिर ट्रस्ट ने नेपाल के पत्थर देने के प्रस्ताव को दी मंज़ूरी 

बिमलेन्द्र निधि ने राम मंदिर ट्रस्ट के सामने यह प्रस्ताव रखा कि जब अयोध्या धाम में भगवान श्रीराम के इतने भव्य मंदिर का निर्माण हो ही रहा है, तो जनकपुर और नेपाल की तरफ से इसमें कुछ ना कुछ योगदान होना चाहिए | हिन्दू स्वयंसेवक संघ और विश्व हिन्दू परिषद ने नेपाल के साथ समन्वय करते हुए ये तय किया गया कि चूंकि अयोध्या में मंदिर का निर्माण दो हजार वर्षों के लिए किया जा रहा है |  इसलिए इसमें लगने वाली मूर्ति में उस तरह का पत्थर लगाया जाए जो इतने समय तक चल सके |

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept