UP Assembly Election 2022: Aparna Yadav और Chandrashekhar को लेकर Akhilesh Yadav ने दिया बयान

Publish Date: 18 Jan, 2022 |
 

UP Assembly Election 2022:

Akhilesh Yadav ने तोड़ी Aparna Yadav पर चुप्पी: उत्तर प्रदेश में जब से चुनाव की तारीखों का ऐलान हुआ है तब से नेताओं के दल- बदल की राजनीति के साथ- साथ पार्टियां भी जोड़-तोड़ में लगी हैं। बीजेपी छोड़ सपा में जाने वाले मंत्रियों और विधायकों के बाद सबसे ज्यादा हैरान करने वाली खबर सपा के यादव परिवार से आई है. सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के सपा छोड़ बीजेपी में शामिल करने की खबर है।

अपर्णा यादव पर अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी:
ऐसे में सपा प्रमुख और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रतिक्रिया दी है। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी को हमारे परिवार की ज्यादा चिंता है.
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपर्णा यादव के बीजेपी जॉइन करने की अटकलों पर विराम लगाते हुए परिवार में सब कुछ ठीक होने की बात कही। उन्होंने कहा चुनाव में बीजेपी कई ऐसे षड्यंत्र करने की कोशिश करेगी, लेकिन समाजवादी उन्हें सफल नहीं होने देंगे.
 
शिवपाल यादव की नसीहत:
 
चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव ने भी अपर्णा यादव को सपा में ही रहने की नसीहत दी है। और पार्टी के लिए काम करने की वकालत की है। 
 
भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को बताया भाई:
 
सीटों के बटवारे पर असहमति के चलते चंद्रशेखर आजाद की भीम आर्मी से समाजवादी पार्टी का गठजोड़ नहीं हो पाया है। इसपर सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव ने कहा है कि " मैंने उन्हें टिकट देने की बात कही है ,उन्हे एक भाई के तरह सपा के साथ मिलकर भाजपा को हरा कर प्रदेश से हटाना चाहिए। "
 
बीजेपी को लगा था झटका-
 
बीजेपी की उत्तर प्रदेश सरकार से कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य समेत अन्य मंत्री और विधायक का सपा में शामिल होना बीजेपी के लिए एक झटका है लेकिन अगर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू भाजपा में जाती है तो सपा को एक झटका जरूर लगेगा। 
 

मुलायम सिंह यादव की बहू, Aparna Yadav का राजनीतिक सफर:


अपर्णा यादव का पूरा नाम अपर्णा बिष्ट यादव है। उन्होंने 2017 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की ओर से लखनऊ कैंट सीट पर चुनाव लड़ा। जिसमे वे बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी से 33,796 मतों के अंतर से हार गई थी। हालांकि समाजसेविका और नेता अपर्णा यादव ने मैनचेस्टर विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री पूरी की। 
सबसे पहले 2014 में पीएम नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान की प्रशंसा के बाद अपर्णा यादव सुर्खियों में आई। उसके बाद 2017 के विधानसभा चुनाव में यह खबर भी आई थी कि वे बीजेपी में शामिल हो सकती है क्योंकि प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी और अपर्णा यादव मूल रूप से उत्तराखंड की रहने बाली है। 
अपर्णा यादव पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू है। 2011 में प्रतीक यादव से उनकी शादी हुई थी। प्रतीक एक कारोबारी है। 
 
यूपी विधानसभा चुनाव 2022:
 
देश के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है। 7 चरणों में 403 विधानसभा सीटों पर होने वाले चुनाव की शुरूआत 10 फरबरी को होगी ।चुनाव के परिणाम 10 मार्च को आएंगे। 
 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept