UP Assembly Election 2022 : सरकार आने पर मूर्ति व पार्क बनाने की जगह पूरी ताकत यूपी के विकास में लगाएंगे : Mayawati

Publish Date: 07 Sep, 2021 |
 

 

 

UP Assembly Election 2022 : यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है। सभी चुनाव की तैयारियां ज़ोरों पर है। जैसे-जैसे चुनाव करीब आ रहे हैंप्रदेश की राजनीति गरमा गई है। चुनाव से पहले ब्राह्मण वर्ग को साधने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है। इस दौरान मायावती ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने ने ये भी साफ किया कि अगर हमारी सरकार बनेगी तो हम महापुरुषों के पार्क, प्रतिमा या संग्रहालय नहीं बनाएंगे बल्कि यूपी के विकास में पूरी ताकत लगाएंगे।

ब्राह्मण समाज को बहकावे में न आने की दी सलाह

मायावती ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि, बीएसपी ने ब्राह्मण समाज का हमेशा कल्याण किया है। प्रबुद्ध किसी के बहकावे में न आए। हमने अपने पार्टी संगठन, चुनाव में टिकट देने पर और सरकार बनने पर मंत्री वगैरह बनाने के मामले में ब्राह्मण वर्ग को उचित प्रतिनिधित्व दिया है। इन सब बातों का अहसास कराने और इन्हें फिर से पार्टी से जोड़ने के लिए मेरे निर्देश पर 23 जुलाई से प्रबुद्ध वर्गों की विचार संगोष्ठी का अयोध्या में आयोजन शुरू हुआ था। पहला चरण काफी सफल रहा है जिसका मेरे द्वारा आज समापन भी किया जा रहा है।

मूर्ति व पार्क बनाने पर क्या बोलीं मायावती?

मायावतीने कहा कि बार सर्व समाज के साथ ब्राह्मणों से हम यूपी में सरकार बनने जा रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि डंके की चोट पर अपनी सरकार के दौरान हमने महापुरुषों की प्रतिमा लगवाई। पार्कों का निर्माण करवाया। लेकिन अब इसकी आवश्यकता नहीं है। अब पूरा ध्यान यूपी के विकास में होगा

मायावतीने आगे कहा कि, दलित वर्ग के लोगों पर शुरू से ही गर्व रहा है। बिना गुमराह हुए और बहकावे में आकर कठिन से कठिन दौर में भी उन्होंने पार्टी का साथ नहीं छोड़ा है। मैं उम्मीद करती हूं बीएसपी से जुड़े अन्य वर्गों के लोग भी इनकी तरह गुमराह नहीं होंगे। पिछले कुछ वर्षों में जहां यहां सपा की सरकार रही हो या वर्तमान में बीजेपी की सरकार चल रही हो लेकिन इन सभी सरकारों की जातिगत की संकीर्ण और पूंजीवादी सोच होने के कारण मजदूरों, किसानों, व्यापारियों व दलित-अन्य पिछड़ा वर्ग के साथ ब्राह्मण समाज का भी शोषण हुआ है।

 

 

 

 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept