UP Election 2022: BJP के गढ़ Lucknow में क्या है जनता के मुद्दे । Assembly Elections 2022

Publish Date: 24 Jan, 2022 |
 

UP Elections 2022: Lucknow की जनता का क्या है मूड

लखनऊ मध्य लखनऊ जिले की एक ऐसी विधानसभा सीट है जहाँ बीजेपी का कब्जा रहा है। इस सीट पर 2017 में ब्रजेश पाठक विधायक बने इससे पहले 1989 में बीजेपी ने कब्जा जमाया जिसके बाद 1991,1993,1996,2002,2007 तक लगातार 7 बार बीजेपी के विधायक रहे 2012 मे सपा के रविदास मेहरोत्रा विधायक बने। 

बीजेपी का गण कहें जाने वाले लखनऊ शहर में विधानसभा की कुल पांच सीट है।इसके साथ ही मोहन लालगंज लोकसभा में विधानसभा की ग्रामीण चार सीट आती हैं।नवाबों के शहर लखनऊ के इसी क्षेत्र में विधान भवन, राज्य भवन और तमाम वीआईपी कॉलोनी आती है।ऐसे में इस सीट से चुनाव लड़ना और जीतना अपने आप में बड़ी बात होती है।
 
पिछला विधानसभा समीकरण -

2012 में कुल नव विधान सभा सीट में से सात समाजवादी पार्टी ने जीते, 1 भाजपा और 1 कॉंग्रेस।
वहीँ 2017 में पूरा समीकरण बदल गया, 9 में से 8 भाजपा ने जीते और 1 समाजवादी पार्टी ने। हालांकि अबकी बार देखना होगा कि क्या भाजपा अपना दम ख़म बनाय रखती है या फिर समाजवादी पुराने अस्तित्व को लाना चाहेगी।
 
आम जनता की राय -

लोगों का मानना है कि पार्टी कोई भी आए लेकिन उनके चुनावी वादों में सबसे पहले नारी शिक्षा, भय मुक्त प्रदेश, रोजगार और विकास रहना चाहिए।लेकिन चुनाव आते आते सभी बुनियादी मुद्दे गायब हो जाते हैं।राजनैतिक पार्टियों के दावे और वादे अपनी जगह है लेकिन आम जनता के मुद्दे, किसी मुसीबत से कम नहीं।ऐसे में यह 10 मार्च को फैसला होगा, विधान सभा और राजभवन में कौन बैठेगा और उस विधान सभा सीट पर किसका कब्जा होगा?
 
मतदाता समीकरण-

कुल मतदाता : 367183
महिला : 172071
पुरुष : 195112
जाति मतदाता
मुस्लिम  90 हजार
वैश्य, तेली, भुर्जी  80 हजार
कायस्थ50 हजार
ब्राह्मण  40 हजार
सोनकर25 हजार
धानुक10 हजार
लोध 3 हजार 
 
 
 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept