Rishabh Pant को IPL नहीं खेलने पर भी मिलेगी पूरी सैलरी? जानें क्या कहता है BCCI का नियम

Publish Date: 10 Jan, 2023 |
 

Rishabh Pant: टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) पिछले साल 30 दिसंबर को सड़क दुर्घटना में घायल हो गए थे। इस हादसे के बाद पंत का कुछ दिनों तक देहरादून के मैक्स अस्पताल में इलाज चला था। इसके बाद पंत को मुंबई के  कोकिलाबेन धीरुबाई अंबानी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था। जहां उनका इलाज मुंबई चल रहा है। बीते शुक्रवार को उनके फटे लिंगामेंट की सफल सर्जरी भी हुई थी। 

आईपीएल की होने वाली है शुरुआत 

हालांकि, ऋषभ पंत को इस हादसे में लगी चोट से पूरी तरह से रिकवर होकर कब तक मैदान पर वापिस लौटेंगे। यह अभी पूरी तरह क्लियर नहीं है, लेकिन गंभीर इंजरी को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि वे अगले 6 महीनों तक एक्शन से बाहर रहेंगे। ऐसे में अब इस साल के मार्च महीने में आईपीएल का 16वां सीजन खेला जाना है। जिसमे पंत बाहर हो गए है। 

पंत को मिलने वाली राशि होगी वापिस?

ऐसे में सवाल उठता है कि दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने इस साल पंत को 16 करोड़ रुपये में रिटेन किया था। जबकि पंत इस सड़क हादसे में चोटिल हो गए है, तो क्या उन्हें ये धनराशि मिलेगी या नहीं? तो आपको बता दें कि इस आईपीएल सीजन से बाहर रहने के बावजूद पंत को ये धनराशि दी जाएगी। हालांकि, उन्हें यह धनराशि उनकी फ्रेंचाईजी की तरफ से नहीं, बल्कि बीसीसीआई देगा। 

इस नियम के अनुसार मिलेगा पैसा 

दरअसल, ऋषभ पंत भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ी हैं। बीसीसीआई उन्हें सालाना 5 करोड़ भी देता हैं। ऐसे में चोट के बाद भी पंत को बीसीसीआई की तरफ से यह राशि तो मिलेगी ही, साथ में आईपीएल (IPL) में न खेलने के बाद भी बोर्ड से ही 16 करोड़ रुपये का भुगतान मिलेगा।

जिसकी वजह बोर्ड द्वारा केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों का कराये गए बीमा का होना है। इसके अनुसार यदि केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों में से कोई खिलाड़ी चोटिल होने की वजह से आईपीएल से बाहर हो जाता, है तो उसे बीमा कंपनी से पूरी राशि मिल जाती है। ऐसा ही कुछ पिछले साल चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाज दीपक चाहर के साथ भी देखने को मिला था। 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept