ऑनलाइन क्लास लेने के लिए नहीं था स्मार्टफोन, सड़क किनारे 12 आम बेचने पर मिले 1.2 लाख रुपये

Publish Date: 01 Jul, 2021 |
 

 

कोरोना की दूसरी लहर ने कई लोगों की जिंदगी छीन ली तो कई लोगों को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है। जमशेदपुर की तुलसी कुमारी की कहानी भी कुछ इसी तरह की है, लेकिन पढ़ाई के प्रति उसका जुनून देखकर हर कोई हैरान है। 11 साल की तुलसी गरीबी से संघर्ष कर रही है और वो अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहती है, लेकिन इसके लिए उसे एक एंड्रॉइड मोबाइल चाहिए था जिसके माध्यम से वह ऑनलाइन ले सके। तुसली को मोबाइल लेने के लिए करीब 10 हजार रुपये की जरूरत थी। इसलिए तुलसी ने सड़क किनारे आम बेचना शुरू किया।

शख्स ने 12 आम के दिए 1.2 लाख रुपए

लड़की को इस हाल में देखकरवैल्यूएबल एडुटेनमेनर प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक अमेया हेटे काफी हैरान रह गए। लड़की ने अमेया अपने परिवार की वित्तीय समस्याओं के बारे में बताया। उसके बाद उन्होंने तुलसी की मदद करने का फैसला लिया। अमेया ने तुलसी से हर 12 आम खरीदे और हर एक आम की कीमत 10 हजार रुपए दिये। उन्होंने 1.2 लाख के आम खरीदे। अमेय ने पैसे लड़की के पिता श्रीमल कुमार के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए हैं।

 एक मोबाइल फोन और दो साल का इंटरनेट भी मुफ्त मिला

तुलसी के लिए फरिश्ता बनकर आए अमेया हेटे ने लड़की की मासूमियत और उसकी पढ़ाई के प्रति जुनून देखकर 10 हजार रुपए का एक आम खरीद खरीद लिया। लड़की से कुल 12 आम खरीदे गए। बदले में उन्हें 1.20 लाख रुपये दिए गए। अमेया हेटे ने इसके साथ ही तुलसी को एक मोबाइल फोन और दो साल का इंटरनेट भी मुफ्त में दिया है, जिससे वो आराम से अपनी पढ़ाई कर सके। अमेया हेटे तुलसी की मदद करके काफी खुश नजर आ रहे हैं। तुलसी अभी कक्षा 5 में पढ़ रही है।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept