95th Annual AIU Conference: शिक्षकों को लगाना चाहिए छात्रों की आंतरिक शक्ति का पता – Watch Video

Publish Date: 14 Apr, 2021 |
 

 

95th Annual AIU Conference: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भारतीय विश्वविद्यालय संघ की 95वीं वार्षिक बैठक और उप-कुलपतियों के नेशनल सेमिनार संबोधित किया। पीएम ने इस दौरान कहा कि भारत दुनिया में लोकतंत्र की जननीलोकतंत्र हमारी सभ्यता का एक अहम हिस्सा रहा है। आजादी के हम अपनी लोकतांत्रिक विरासत को मजबूत करके आगे बढ़े और बाबा साहब ने इसका मजबूत आधार देश को दिया।

पीएम ने कहा कि, मोदी ने कहा कि जब नॉलेज आती है, तब ही आत्मसम्मान भी बढ़ती है। आत्मसम्मान से व्यक्ति अपने अधिकार, अपने राइट्स के लिए जागरुक होता है और समान अधिकार से ही समाज में समरसता आती है, और देश प्रगति करता है। हर स्टूडेंट का अपना एक सामर्थ्य होता है, क्षमता होती है। इन्हीं क्षमताओं के आधार पर स्टूडेंट्स और टीचर्स के सामने तीन सवाल भी होते हैं। पहला- वो क्या कर सकते हैं? दूसरा- अगर उन्हें सिखाया जाए, तो वो क्या कर सकते हैं? और तीसरा- वो क्या करना चाहते हैं।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, एक स्टूडेंट क्या कर सकता है, ये उसकी अंदरूनी ताकत है। लेकिन अगर हम उनकी अंदरूनी ताकत के साथ साथ उन्हें संस्थागत शक्ति दे दें, तो इससे उनका विकास व्यापक हो जाता है। इस मेल से हमारे युवा वो कर सकते हैं, जो वो करना चाहते हैं।इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept