Aligarh Desi Liquor Case: अलीगढ़ में देशी शराब पीने से 73 लोगों की हुई मौत, संयुक्त आयुक्त आगरा जोन सहित अब तक 7 हुए निलंबित

Publish Date: 31 May, 2021 |
 

Aligarh Desi Liquor Case: 

31.05.2021 Update

 

अलीगढ़ जिले में देशी शराब जहरीली होने की वजह से अब तक 73 लोगों की जान जा चुकी है। यहां के कई गांव में 26 मई की रात से शुरू हुआ मौत का सिलसिला आज सुबह तक जारी है। अलीगढ़ में थाना महुआखेड़ा इलाके के गांव धनीपुर में शराब पीने से 2 और लोगों की मौत हो गई। 5 लोग गंभीर हैं। अब तक इससे कुल 73 लोगों की मौत हो चुकी है। पुलिस ने इस हादसे के 2 मेन गुनहगारों में से 1 को पकड़ लिया है। 4 और लोगों को भी पुलिस ने पकड़ लिया है, जो कि देशी शराब बेचते थे। पुलिस की ओर से अलीगढ़ के साथ ही एटा, मैनपुरी, गौतम बुद्ध नगर और आगरा में दूसरे 50,000 के इनामी गुनहगारों की तलाश जारी है।  

 इसी सिलसिले में अपर मुख्य सचिव संजय आर भूसरेड्डी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आबकारी विभाग के संयुक्त आबकारी आयुक्त, आगरा जोन रवि शंकर पाठक एवं उप आबकारी आयुक्त अलीगढ़ मंडल ओपी सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इनके विरुद्ध में कठोर विभागीय कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। इन सबको मिलाकर इस जहरीली शराब केस में कुल 7 अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की गई है।


 

अलीगढ़ जिले में देशी शराब के ठेके से शराब लेकर पीने वालों की मौत का सिलसिला आज भी जारी है। दरअसल, 27 मई की रात से ही लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी और शुक्रवार के रात तक 27 लोगों ने जान गंवा दिया था। 5 लोगों की आज सुबह मृत्यु होने के बाद से अब कुल संख्या 53 पर पहुंच गई है।

 

अलीगढ़ के कुल 7 गांव में 26 मई की रात बड़ी संख्या में लोगों ने देशी शराब का सेवन किया था। इनमें से ज्यादातर लोग तो अलीगढ़ के लोग ही थे जबकि ज्यादा संख्या में ट्रक के चालक भी थे, जो कि एचपी बॉटलिंग प्लांट में गैस सिलेंडर लेने के लिए आए थे। 28 मई को जहां 27 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं आज सुबह भी 5 लोगों की जान चली गई है। मृतकों की संख्या अब बढ़कर 53 हो गई है। एक दर्जन से अधिक लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।अभी इसकी संख्या और भी बढ़ सकती है। जिला अस्पताल में भर्ती कई लोगों की हालत अभी काफी गंभीर बनी हुई है। उनके इलाज में चिकित्सक लगे हुए हैं।

अलीगढ़ में 28 मई की रात तक 3 गांवों में 22 और गभाना के गांव में 5 लोगों की मौत हो गई। वहीं, प्रदेश में शासन-प्रशासन के लाख दावे करने के बावजूद जहरीली देसी शराब के धंधे पर अंकुश नहीं है। अलीगढ़ में दो अलग घटनाओं में देशी शराब पीने से 28 मई को आधा दर्जन गांवों के 27 लोगों की मौत हो गई

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept