अनिल अंबानी ने यूके कोर्ट को बताया, गहने बेचकर कर भर रहा हूं वकीलों की फीस – Watch Video

Publish Date: 26 Sep, 2020
 

भारत के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी के भाई और साथी उद्योगपति अनिल अंबानी ने कहा है कि उनका खर्च पत्नी और परिवार द्वारा वहन किया जा रहा है और उन्होंने अपने बेटे से कर्ज भी लिया है। एक चीनी बैंक को बकाया चुकाने के मामले के सिलसिले में शुक्रवार को लंदन उच्च न्यायालय द्वारा पूछे जाने पर उसने ये खुलासे किए। अंबानी ने कहा कि कानूनी फीस का भुगतान करने के लिए उन्हें अपने गहने बेचने पड़े। उन्होंने कहा कि उन्हें जनवरी और जून 2020 से बेची गई सभी व्यक्तिगत ज्वैलरी के लिए 9.9 करोड़ रुपये मिले हैं और अब उनके पास कुछ भी नहीं है। जब उनसे महंगी कारों के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि लग्जरी कारों की खबरें केवल मीडिया की अटकलें थीं और उनमें से कोई भी सच्चाई नहीं है। उन्होंने कहा, "मेरे पास कभी भी रॉल्स रॉयस का मालिकाना हक नहीं रहा है। मैं एक कार का इस्तेमाल करता हूं। उन्होंने कहा कि उन्हें जनवरी से जून 2020 के बीच अपनी सभी गहनों से 9.9 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं और अब उनके पास कोई भी कीमती वस्तु नहीं बची है। यूके की अदालत ने 22 मई 2020 को अनिल अंबानी को आदेश दिया था कि वे तीन चीनी बैंकों का 12 जून 2020 तक  71,69,17,681 डॉलर (करीब 5,281 करोड़ रुपये) का कर्ज चुकाएं और बतौर कानूनी खर्च 50,000 पाउंड (करीब 7 करोड़ रुपये) का भुगतान करें। अनिल अंबानी ने पहले व्यक्तिगत शर्मिंदगी से बचाने के लिए अपनी कार्यवाही को निजी तौर पर आयोजित करने की अपील की थी, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया था। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept