Odisha Gang Rape Case: अंजना मिश्रा के बलात्कार का मुख्य आरोपी दो दशक बाद गिरफ्तार

Publish Date: 22 Feb, 2021
Odisha Gang Rape Case: अंजना मिश्रा के बलात्कार का मुख्य आरोपी दो दशक बाद गिरफ्तार

Odisha Gang Rape Case: ओडिशा में हुए सामूहिक बलात्कार के मामले का मुख्य आरोपी पकड़ा गया है। आरोपी को पुलिस ने पूरे 2 दशक के बाद गिरफ्तार किया है। ओडिशा में साल 1999 में एक आईएफएस अधिकारी की पत्नी से हुए सामूहिक बलात्कार के मुख्य आरोपी को महाराष्ट्र में पकड़ा गया है। इस घटना की वजह से ओडिशा के तत्कालीन सीएम जे बी पटनायक को 1999 में इस्तीफ़ा देना पड़ा था।

ट्विन सिटी कमिश्नरेट पुलिस ने आज हाई-प्रोफाइल अंजना मिश्रा के सामूहिक बलात्कार के मामले के प्रमुख आरोपी का नाम बिबेकानंद बिस्वाल उर्फ ​​बीबन है। बीबन को मुंबई के लोनावाला में आंबी घाटी से पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बता दें ये ऑपरेशन करीब तीन महीने पहले ही शुरू हो गया था और बादामबाड़ी पुलिस स्टेशन आईआईसी रश्मि रंजन महापात्रा के नेतृत्व में एक विशेष टीम बनाई गई थी। फिर 19 फरवरी को टीम मुंबई के लिए रवाना हुई थी। 

आपको बता दें कि मामले के 1 दोषी प्रदीप साहू उर्फ पाडिया की  साल 2020 में फरवरी में यहां के कैपिटल हॉस्पिटल में इलाज के दौरान ही मौत हो गई थी। इस केस में 15 जनवरी, 1999 को सबसे पहले पाडिया को ही गिरफ्तार किया गया था। खुर्दा जिला सत्र न्यायाधीश ने साल 2002 में उसे एवं टूना मोहंती को दोषी करार दिया था। दोनों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई दी। उच्च न्यायालय ने इस फैसले को आगे भी बरकरार रखा था।

इन तीनों दोषियों ने सन् 1999 में 9-10 जनवरी की रात में बारंगा के पास महिला की कार रोकी थी और गैंगरेप किया था। अंजना अपने एक पत्रकार दोस्त के संग कार से कटक जा रही थी। इसके बाद इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी दी गई थी।

आज मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के बाद, जीवित अंजना मिश्रा ने कहा कि, “बीबन को मौत की सजा दी जानी चाहिए। मैं राहत महसूस कर रही हूं और खुश हूं कि उसे गिरफ्तार किया गया है। मैं पुलिस आयुक्त और उनकी टीम को धन्यवाद करती हूं। ”

 

 

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept