Bhandara Tragedy: अस्पताल में आग से 10 शिशुओं ने तोड़ा दम, परिजनों का लापरवाही का आरोप – Watch Video

Publish Date: 09 Jan, 2021 |
 

Bhandara Tragedy: महाराष्ट्र के भंडारा के सरकारी अस्‍पताल में आग लगने से 10 नवजात बच्‍चों की दर्दनाक मौत हो गयी है। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने हादसे की जांच क आदेश दे दिए है। मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना शुक्रवार रात दो बजे घटित हुई। हादसे के समय वार्ड में कुल 17 बच्चे मौजूद थे। जिसमें से 7 बच्चों को ऑपरेशन चलाकर सुरक्षित बाहर निकाला गया है। बच्चों की दर्दनाक मौत की खबर सुनकर परिजनों रो-रोकर बुरा हाल है। ड्यूटी पर मौजूद नर्स ने जैसे ही वार्ड का दरवाजा खोला कमरे में चारों तरफ धुआं फैल चुका था। तुरंत फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया।    

घटना के बाद से परिवारवालों का रो रोकर बुरा हाल हो गया। परिजानों ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का इल्जाम भी लगाया है। परिजानों का कहना है कि इतनी बड़ी घटना हो गई लेकिन अभी तक अस्पताल ने इस पर किसी से बात नहीं की है। वहीं स्वास्थ्य मंत्री Rajesh Tope समेत जिला कलेक्टर और Sp से बात की है। आग लगने की वजह अभी सामने नहीं आई हैं। मीडिया रिपोट्स में बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी। इस वार्ड में एक दिन से लेकर तीन महीने तक के बच्‍चों को रखा गया था। इस दर्दनाक हादसे को लेकर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने जांच के आदेश भी दिए हैं। इस घटना पर पीएम नरेंद्र मोदी ने दुख जताते हुए Tweet किया, ''महाराष्ट्र के भंडारा में ह्रदय विदारक घटना हुई है। हमने कई बहुमूल्य नौजवान जिंदगियों को खो दिया। उम्मीद है घाल जल्द से जल्द स्वस्थ्य होंगे।''

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी इस घटना पर दुख जताते हुए Tweet किया, ''महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में आग की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। जिन बच्चों ने अपनी जान गंवाई है, मेरी संवेदनाएं उनके परिवार वालों के साथ हैं। मैं महाराष्ट्र सरकार के अपील करता हूं कि घटना में मारे गए और घायल लोगों के परिवार को सभी संभव सहायता उपबल्ध करवाएं।'' इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

 

 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept