Bihar Elections 2020: चुनाव से पहले JDU ने 15 बागी नेताओं को किया पार्टी से निष्कासित – Watch Video

Publish Date: 13 Oct, 2020
 

Bihar Elections 2020: बिहार विधानसभा चुनाव 2020 से पहले, जनता दल ने कड़ा रुख अपनाते हुए विद्रोही रवैया दिखाने के लिए पार्टी के एक दर्जन से अधिक नेताओं को निष्कासित कर दिया। जेडी (यू) ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए 15 नेताओं को निष्कासित कर दिया है और पार्टी में उनकी सदस्यता छह साल के लिए रद्द कर दी गई है। जेडीयू ने यह फैसला बिहार चुनाव से पहले उनके विद्रोह को देखते हुए लिया है। निष्कासित नेताओं में डुमरांव के विधायक ददन पहलवान भी शामिल हैं। वह डुमरांव से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। पूर्व मंत्री रामेश्वर पासवान को भी पार्टी से बाहर कर दिया गया है। इनके अलावा पूर्व मंत्री भगवान सिंह कुशवाहा, पूर्व विधायक रणविजय सिंह, पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह, महिला प्रकोष्ठ की पूर्व अध्यक्ष कंचन कुमारी गुप्ता ने भी बाहर का रास्ता दिखाया है। इस सूची में प्रमोद सिंह चंद्रवंशी, अरुण कुमार, अमरेश चौधरी, शिव शंकर चौधरी, सिंधु पासवान, करतार सिंह, राकेश रंजन, मुंगेरी पासवान और तजम्मुल खान का नाम भी शामिल है। प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने सभी को पार्टी से निकाल दिया है। इसके पहले बीजेपी ने पार्टी के नौ बागियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। उनमें से अधिकांश लोक जनशक्ति पार्टी के टिकट पर ताल ठोक रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है। आपको बता दें कि, 25 उम्मीदवारों द्वारा सोमवार को नाम वापसी के अंतिम दिन अपने नामांकन पत्र वापस लेने के बाद 71 सीटों के लिए विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए कुल 1065 उम्मीदवार मैदान में रह गए हैं। अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी (ACEO) संजय कुमार सिंह ने कहा कि पहले चरण में कुल 1354 नामांकन पत्र दाखिल किए गए थे, जिनमें से 264 उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों की जांच के बाद आयोग द्वारा अमान्य पाए गए 1090 उम्मीदवारों को पहले चरण में छोड़ दिया गया था। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video..

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept