Thunderstorm in Bihar: Bihar में आकाशीय बिजली ने 83 लोगो की ली जान ,Nitish Kumar ने 4 लाख रुपये के मुआवजे का किया ऐलान - Watch Video

Publish Date: 26 Jun, 2020
 
Thunderstorm in Bihar: बिहार में गुरुवार को लगातार हो रही बारिश लोगों पर आफत बनकर टूट पड़ा है। तेज बारिश के दौरान यहां बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत हो गई है। आपको बता दें कि सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक यहां भारी बारिश और बिजली गिरने से अलग-अलग जिलों में कुल मिलाकर इतने लोगों की मौत हुई है। इनमें गोपालगंज में 13, पूर्वी चंपारण में 5, सीवान में 6, दरभंगा में 5, बांका में 5, भागलपुर में 6, खगड़िया में 3, मधुबनी में 8, पश्चिम चंपारण में 2, समस्तीपुर में 1, शिवहर में 1, किशनगंज में 2, सारण में 1, जहानाबाद में 2, सीतामढ़ी में 1, जमुई में 2, नवादा में 8, पूर्णिया में 2, सुपौल में 2, औरंगाबाद में 3, बक्सर में 2 मधेपुरा में 1 और कैमूर में 1 लोगों की मौत हुई है। पीएम मोदी ने इस घटना पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- 'बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों के निधन का दुखद समाचार मिला। राज्य सरकारें तत्परता के साथ राहत कार्यों में जुटी हैं। इस आपदा में जिन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, उनके परिजनों के प्रति मैं अपनी संवेदना प्रकट करता हूं।' बिहार के मुख्यमंत्री ने भी लोगों की मौत पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वह प्रभावित परिवारों के साथ हैं। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को तत्काल चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें। खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिये आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किये गये सुझावों का अनुपालन करें। खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें। बता दें कि मौसम विज्ञान केंद्र (Meteorological center) पटना ने आने वाले तीन दिनों तक बिहार कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इस अलर्ट के अनुसार कई जिलों में अत्यंत भारी वर्षापात एवं बिजली गिरने की आशंका है।
 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept