Chhath Pooja 2020: छठ घाटों पर तैनात SDRF और NDRF की टीमें, सीसीटीवी से रखी जायेगी नजर – Watch Video

Publish Date: 20 Nov, 2020 |
 

Chhath Pooja 2020: कोरोना काल में त्योहार मनाते हुए अपनी सेहत का ध्यान रखना जरूरी है। इस कोरोना काल की वजह से आस्था के महापर्व छठ पर सबसे ज्यादा असर पड़ रहा है। छठ पर्व के दूसरे दिन श्रद्धालुओं बड़ी संख्या में गांधी घाट पर पहुंच गए। तो वहीं प्रशासन की तरफ से SDRF और NDRF की टीमें तैनात की गई हैं। इन नावों से लोगों को मास्क लगाने की अपील की जा रही है। एक अधिक ने जानकारी दी। "यहां हमारी 2 टीमें तैनात हैं। नावों के द्वारा लगातार गश्त दी जा रही है।वहीं इसके अलावा जिला प्रशासन द्वारा घाटों को कीटाणुरहित किया जा रहा है।" इसके अलावा नियंत्रण कक्ष में एक डॉक्टर साथ ही घाटों के पहुंच पथ पर 36 एंबुलेंस स्ट्रेचर और ऑक्सीजन सिलेंडर रखे गए हैं। छठ पर्व का व्रत रखने वाला लोग खरना के पूरे दिन व्रत रखते हैं। उसके बाद रात को गुड़ से बनी खीर खाते हैं और इसके बाद सूर्योदय को अर्घ्य देकर पारण करने तक ना कुछ खाता है और न ही जल ही ग्रहण करते हैं। खरना एक तरह से शारीरिक और मानसिक शुद्धि की प्रक्रिया होती है। खरने में रात में भोजन करने के बाद अगले 36 घंटे का कठिन व्रत रखा जाता है। पटना में अधिकारियों ने भक्तों से अपील की है कि वे अपने घरों पर पूजा-अर्चना करें ताकि कोरोना महामारी न फैले। गृह विभाग ने निर्देशों जारी कर छठ पर्व के दौरान 10 साल से कम के बच्चे और 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति को छठ घाटों पर नहीं जाने की सलाह दी है। साथ बुखार से ग्रस्त व्यक्ति भी घाटों पर नहीं जा सकेंगे। पटना के जिला मजिस्ट्रेट कुमार रवि ने कहा कि घाटों पर पुलिस तैनात कर दी गई है और श्रद्धालुओं को भीड़ को कम करने के लिए अपने निजी वाहनों में जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसलिए, घाटों पर पार्किंग की कोई सुविधा नहीं होगी। रवि ने कहा कि त्योहार के दौरान किसी भी निजी नौका को श्रद्धालुओं को फेरी लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video….

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept