Coronavirus plasma therapy in Indore: इंदौर में प्लाज्मा थैरेपी से ठीक हुए 2 डॉक्टर, शेयर किया अपना अनुभव - Watch Video

Publish Date: 11 May, 2020
 
Coronavirus plasma therapy in Indore: एमपी सरकार ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरपी को मंजूरी दी है। इंदौर और भोपाल में मरीजों को प्लाज्मा थेरपी दी गई थी। बता दें कि देश में अभी प्लाज्मा थैरेपी प्रायोगिक चरण में है और कई राज्यों ने COVID-19 के लिए इसका परीक्षण किया जा रहा है। इंदौर और भोपाल में मरीजों को प्लाज्मा थेरपी दी गई थी। प्लाज्मा थेरपी से इलाजरत इंदौर के तीनों मरीज बुधवार को ठीक होकर घर लौटे गए हैं। कोरोना से ठीक हुए 2 डॉक्टरों ने अरबिंदो अस्पताल में प्लाज्मा डोनेट किया था। डॉक्टरों के अनुसार प्लाज्मा थेरपी ने 4 दिन बाद ही अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था। गंभीर संक्रमण की चपेट में आए तीनों मरीजों की सेहत में तेजी से सुधार हो रहा। प्लाज्मा थैरेपी से ठीक हुये डॉक्टर और प्लाज्मा डोनर डॉक्टर इकबाल कुरैशी ने अपना अनुभव साझा किया। उन्होंने बताया कि मैं औरबिंदो अस्पताल में कोरोना के इलाज के लिए एडमिट हुआ था इससे ठीक होने के बाद मुझे डिस्चार्ज कर दिया गया और मैं 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन पर रहा। इसके बाद मुझे अस्पताल से फोन आया कि क्या मैं अपना प्लाज्मा डोनेट करना चाहता हुं और मैंने तुरंत हां बोल दी। इसके बाद अब कपिल देव भल्ला की बात करें तो उन्होंने बताया कि कोरोना से संक्रमित होने के बाद मेरा ऑक्सीजन लेवल बहुत कम था। 10 दिन अस्पताल में रहने के बाद भी सुधार नहीं हो रहा था। 26 अप्रैल को प्लाज्मा थेरपी दी गई। 29 अप्रैल को चमत्कारिक बदलाव आया और डॉक्टर ने मेरी ऑक्सीजन हटा दी। उसके बाद सारी रिपोर्ट नॉर्मल आने लगीं और 6 मई को अस्पातल से छुट्टी हो गई। और जानकारी के लिए देखें ये वीडियो।
 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept