Delhi Air Pollution : दिल्ली की हवा हुई खराब, बढ़ा प्रदूषण, 9 इलाके Red Zone में – Watch Video

Publish Date: 13 Oct, 2020
 

Delhi Air Pollution: दिल्ली की हवा फिर एक बार दमघोंटू होने लगी है। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में प्रदूषण बढ़ा रहा है। पड़ोसी राज्यों द्वारा पराली जलाने के नए मामले आने के बाद से ही दिल्ली की हवा जहरीली होने लगी है। पंजाबी बाग और वजीरगंज में वायु गुणवत्ता सूचकांक कल 300 के पार पहुंच गया है। धीमी हवा पराली का धुआं और धूल ने दिल्ली की हवा को खराब कर दिया है। प्रदूषण  में हुई वृद्धि के कारण सोमवार के कारण दिल्ली के 9 इलाके अब रेड जोन में आ गए हैं। आनंद विहार, बवाना, डीटीयू, आइटीओ (ITO), पटपड़गंज (Patparganj), विवेक विहार (Vivek Vihar), वजीरपुर (Wazirpur), अशोक विहार (Ashok Vihar), जहांगीरपुरी (Jahangirpuri) इन सभी जगह एयर इंडेक्स 300 का आंकड़ा पार कर बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गया। राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता मंगलवार सुबह "बहुत खराब" श्रेणी में आ गई है, पहली बार इस मौसम में, धीम हवाएं और कम तापमान प्रदूषण  में हुई वृद्धि हुई है। दिल्ली के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली के अनुसार, पंजाब, हरियाणा और पाकिस्तान के पड़ोसी क्षेत्रों में पराली जलाने वृद्धि से दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता को प्रभावित करने वाली है। शहर ने सुबह 9:30 बजे 304 का वायु गुणवत्ता सूचकांक  दर्ज किया, जो "बहुत खराब" श्रेणी में आता है। 24 घंटे की औसत AQI सोमवार को 261 थी, फरवरी के बाद से सबसे खराब। यह रविवार को 216 और शनिवार को 221 था। वज़ीरपुर (AQI 380), विवेक विहार (AQI 355) और जहाँगीरपुरी (AQI 349) ने सबसे अधिक प्रदूषण का स्तर दर्ज किया। आपको बता दें कि 0 और 50 के बीच एक AQI को 'अच्छा', 51 और 100 'संतोषजनक', 101 और 200 'मध्यम', 201 और 300 'गरीब', 301 और 400 'बहुत गरीब' और 401 और 500 'गंभीर' माना जाता है। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept