केजरीवाल सरकार का ऐलान, दिल्ली में मजदूरों का घर बैठे होगा Registration – Watch Video

Publish Date: 19 Nov, 2020 |
 

दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए ऐलान किया कि, निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों का पंजीकरण डोर-स्टेप डिलीवरी के माध्यम से किया जाएगा। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने उसी के बारे में जानकारी दी। सेवा आज से '1076' हेल्पलाइन पर शुरू होगी। मनीष सिसोदिया ने कहा कि "निर्णय लिया गया है कि निर्माण श्रमिकों का पंजीकरण डोर-स्टेप डिलीवरी के माध्यम से किया जाएगा। सेवा आज '1076' हेल्पलाइन पर शुरू होगी। किसी भी निर्माण श्रमिक को अब सरकार के कार्यालयों में लंबी कतारों में नहीं खड़ा होना पड़ेगा। एक गहन अध्ययन के बाद, हमने फैसला किया है कि निर्माण श्रमिक का पंजीकरण डोर-स्टेप डिलीवरी के माध्यम से किया जाएगा। किसी भी निर्माण श्रमिकों को अपने दस्तावेजों, तस्वीरों आदि को श्रम कार्यालयों में ले जाना होगा और लंबी कतारों में खड़ा होना होगा। वह दिन जब काम होगा। कार्यालय का दौरा करना है, उस दिन उन्हें छुट्टी लेनी है, जिसके बाद उन्हें सत्यापन प्रक्रिया के लिए समय बिताना था। अब नई प्रक्रिया के बाद, किसी भी निर्माण कार्यकर्ता को सार्वजनिक विभाग के कार्यालयों में जाने की आवश्यकता नहीं है।” आपको बता दें कि दिल्ली में कोरोना के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। दिल्ली में कोरोना के मामले 5 लाख के करीब पहुंच चुके हैं। पिछले 24 घंटों में कोरोना के मामले 7,486 मामले सामने आए हैं। जबकि 6901 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इस दौरान 131 लोगों की मौत हो गई। दिल्ली में अब तक कोरोना से कुल 7,943 मौत हो चुकी है। दिल्ली में अब तक कुल 5,03,084  कोरोना के मामले सामने आए हैं। हालांकि इन में से अभी तक 4,45,782 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। दिल्ली में 17 नवंबर को 49,031 टेस्ट किए गए हैं। दिल्ली में अभी तक कुल 62,232 टेस्ट हुए हैं। दिल्ली में कोरोना की पॉजिटिविटी रेट 13.04 प्रतिशत है। वहीं मृत्यु दर 1.58 प्रतिशत है। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept