Delhi Coronavirus Update: दिल्ली HC का आदेश, 33 अस्पतालों में 80% ICU बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व – Watch Video

Publish Date: 13 Nov, 2020 |
 

Delhi Coronavirus Update: देश में कोरोना के मामलों में कमी देखी जा रही है। लेकिन दिल्ली में कोरोना के मामले रिकॉर्ड तोड़ रहे है। दिल्ली में अब कोरोन के मामले 8 हजार के पार आ रहे हैं। इसी बीच दिल्‍ली हाइकोर्ट ने गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी के 33 निजी अस्पतालों में 80% बेड कोरोना वायरस मरीजों के लिए आरक्षित करने का आदे दिया है। फिलहाल यह आदेश दो हफ्ते के लिए है। इसके बाद फिर से इस आदेश की समीक्षा की जाएगी। दिल्ली में कोरोना के मामले 4 लाख के पार पहुंच चुके हैं। 11 नवम्‍बर को रेकॉर्ड 8,593 नए मामले दर्ज किए गए। वहीं इस दौरान 85 लोगों की मौत हो गई। दिल्ली में अब कुल कोरोना के मामले 4,59,975 हो चुके हैं। इनमें से ,10,118 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं 7,228  लोगों की मौत हो गई है। दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 15.2% हो गई है। दिल्ली में नवंबर के महीने में कोरोना के मामलों उछाल देखा गया है। दिल्लीवालों को कोरोना के साथ प्रदूषण का भी सामना करना पड़ा रहा है। वहीं बढ़ते कोरोने के मामलों पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि, “पिछली बार जब कोरोना पीक पर था, उस वक्त जितने टेस्ट होते थे, उसके मुकाबले अभी 3 तीन गुना टेस्ट अधिक किए जा रहे हैं। कल भी 64 हजार से ज्यादा टेस्ट किए गए जो अपने आप में रिकॉर्ड है।” वहीं पूरे देश में कोरोना के मामलों की बात करे तो पिछले 24 घंटे में कोरोना 47,905 नए मामले सामने आए हैं जबकि 52,718 मरीज ठीक हो गए और 550 लोगों की मौत हुई है। पिछले कुछ दिनों से कोरोना के नए मामलों से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या है। अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,28,121 हो गई है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक, देशभर में कोरोना के लिए 11 नवंबर तक  12,19,62,509 करोड़ टेस्ट किए गए। जिनमें से एक दिन में  11,93,358 नमूनों की जांच की गई। देश में संक्रमण के मामले बढ़कर  86,83,917 हो गए हैं, जिनमें  4,89,294 लोगों का उपचार चल रहा है 80,66,502 लोग उपचार के बाद इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये video…

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept