Delhi Marriage Party Guidelines: केजरीवाल ने Market में लॉकडाउन लगाने और शादी में 50 लोग के शामिल होने की मांगी अनुमति, केंद्र को भेजा प्रस्ताव

Publish Date: 18 Nov, 2020 |
 

Delhi Marriage Party Guidelines: कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। दिल्ली में कोरोना के मामले रिकॉर्ड तोड़ रहे है। दिल्ली में कोरोना के मामले 4 लाख के पार पहुंच चुके हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने एक अहम प्रस्ताव तैयार किया है। केजरीवाल ने मंगलवार को मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि अब शादी-समारोह में सिर्फ 50 लोग ही शिरकत कर सकेंगे। अभी दिल्ली में शादी-समारोह 200 लोग शामिल हो सकते हैं। केजरीवाल सरकार ने उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास यह प्रस्ताव भेज दिया है। उपराज्य से इसकी मंजूरी मिलते ही यह प्रावधान दिल्ली में लागू हो जाएगा। केजरीवाल ने कहा, ''राज्य सार्वजनिक सभाओं के लिए अनुमति लोगों की संख्या को 50 तक कम करने पर भी विचार कर रहा है। इस के लिए केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली ने शादियों में 200 लोगों को अनुमति दी थी। लेकिन अब हमने 50 लोगों की पहले की सीमा पर वापस जाने का फैसला किया है। मैंने मंजूरी के लिए उपराज्यपाल को एक प्रस्ताव भेजा है। मुझे उम्मीद है, वह जल्द ही अनुमति देंगे।''

 

 

केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में कोरोना के मामले क्यों बढ़ रहे हैं। उन्होंने ने कहा, “दिवाली के दौरान, हमने शहर भर के बाजारों में भारी भीड़ देखी और उनमें से कुछ में, बड़ी संख्या में लोगों को न तो मास्क पहने हुए थे और न ही Social Distancing का पालन किया गया। इसके कारण कोरोनावायरस के मामले बढ़ने लगे हैं। भले ही अब बाजारों में भीड़ कम होने की उम्मीद है, हम केंद्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजेंगे जिसमें हमें उन बाजारों को अस्थायी रूप से बंद करने की अनुमति दी जाएगी जहां Social Distancing और कोरोना नियमों के उल्लंघन हो रहा है।” आपको बता दें कि दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना के मामले 3797 मामले सामने आए हैं। इस दौरान 99 लोगों की मौत हो गई। दिल्ली में अब तक कोरोना से 7713 मौत हो चुकी है।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept