BS6 के भविष्य को लेकर Maruti Suzuki के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर शशांक श्रीवास्तव से खास बातचीत

Publish Date: 03 Dec, 2019

देश की जानी-मानी कार निर्माता कंपनी Maruti Suzuki India के मार्केटिंग एंड सेल्स के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर शशांक श्रीवास्तव से भारत में मारुति सुजुकी के BS6 के भविष्य को लेकर खास बातचीत हुई। जहां बहुत सी ऐसी बातों के बारे में पता चला है कि भविष्य में मारुति सुजुकी का क्या प्लान है। Maruti Suzuki के लिए यह वित्त वर्ष कैसा रहा? अप्रैल से सितंबर के बीच इंडस्ट्री में मंदी का दौर रहा, रिटेल में बिक्री काफी कम हुई। वाहनों की कीमते बढ़ने की वजह से बिक्री कम हुई, इंश्योरेंस कॉस्ट और टैक्स बढ़ने की वजह से बिक्री कम हुई, फाइनेंस कंपनियों ने नियमों को कड़ा किया जिसके चलते भी बिक्री में कमी आई। सबसे अहम वजह ये रही कि इंजन बीएस-4 से बीएस-6 में तब्दील हो रहे हैं, जिसके चलते ग्राहकों में काफी कंफ्यूजन है कि कौन सा वाहन खरीदा जाए और कौन सा न खरीदा जाए। लेकिन अक्टूबर में मारुति सुजुकी की बिक्री बहुत ज्यादा बढ़ी है, कंपनी बनने के बाद से अब तक अक्टूबर, 2019 में सबसे ज्यादा बिक्री हुई। बीएस-4 और बीएस-6 को लेकर ग्राहकों के दिमाग में काफी कंफ्यूजन है और बीएस-6 क्या होता है इसके बारे में बताइए? अप्रैल, 2020 के बाद से बीएस-4 इंजन वाली गाड़ियों का पंजीकरण नहीं होगा। सरकार ने सीधे बीएस-4 से बीएस-6 में भेजा है और जैसे हमारी बाजार में 50 फीसद हिस्सेदारी है तो हमारा भी फर्ज बनता है और हम सरकार का इसमें सहयोग करेंगे। हम बलेनो और ऑल्टो का बीएस-6 मॉडल अप्रैल 2019 में ही ले आए और मई-जून में स्विफ्ट, वैगनआर, एक्सएल6, अर्टिगा, एस-प्रेसो आदि कारों को बीएस-6 में लाया गया। यह ऐसी कारें हैं जो कि सबसे ज्यादा बिकती हैं और हमने अब तक 3 लाख से ज्यादा बीएस-6 इंजन वाली कारें बेची हैं। बीएस-6 कंप्लेंट और बीएस-6 रेडी में क्या अंतर है। हमने इंजन को पूरी तरह से बीएस-6 कंप्लेंट किया है जो कि एमिशन के सभी मापदंडों को पूरा करता है। बीएस-6 रेडी में बीएस-4 इंजन ही रहता है उसमें थोड़ा मोडिफिकेशन होता है।

Read More..

Related videos