Farmers Protest 100 Days: Kisan Aandolan के 100 दिन हुए पूरे, जानें अब तक का Update- Watch Video

Publish Date: 06 Mar, 2021 |
 

Farmers Protest 100 Days: नए कृषि क़ानूनों के खिलाफ किसान पिछले कई दिनों से दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर सिंघु, टिकरी और गाजीपुर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों ने साफ कर दिया है कि जब तक सरकार कानूनों को वापस नहीं लेती है किसान दिल्ली की सीमा खाली नहीं करने वाले हैं। लेकिन अब कई किसान अपने घर वापस जा रहे हैं। किसान इन क़ानूनों को वापस लिये जाने से कम के लिए तैयार नहीं है।

आज कृषि क़ानूनों के विरोध को कुल 100 दिन पूरे हो गए हैं। आज दिल्ली और दिल्ली की सीमाओं के अलग-अलग विरोध स्थलों को जोड़ने वाले KMP Expressway पर पूरे 5 घंटे की नाकाबंदी होगी। किसान आज सुबह 11-4 बजे तक ये जाम करेंगे। किसान टोल प्लाजा को टोल फीस देने से भी मुक्त करेंगे। किसानों के अनुसार यह नाकाबंदी पूरी तरह से शांतिपूर्ण होगा। संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रदर्शनकारियों से आह्वान किया है कि 100 दिन पूरे होने पर काली पट्टी बांधकर विरोध किया जाए।

भारतीय किसान यूनियन के यूपी अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन ने एजेंसीको जानकारी दी कि, "किसान यहां से डासना टोल की ओर कूच करेंगे, लेकिन हरियाणा-यूपी में जितने भी टोल पड़ेंगे, जैसे की दुहाई, कासना, नोएडा आदि सब पर किसान रहेंगे और जाम किया जाएगा." उन्होंने कहा, "शांतिपूर्ण तरह से इन टोल प्लाजा को बंद किया जाएगा, राहगीरों को परेशान नहीं किया जाएगा, राहगीरों के लिए पानी की व्यवस्था रखी जाएगी, आंदोलनकारियों द्वारा राहगीरों को कृषि विषय पर अपने दुख भी बताएंगे।" 

उन्होंने आगे बताया कि, "इमरजेंसी वाहनों को नहीं रोका जाएगा, चाहे एम्बुलेंस हो, फायर ब्रिगेड की गाड़ी, वहीं कोई विदेशी पर्यटकों को भी नहीं रोका जाएगा। इसके अलावा मिल्रिटी वाहनों को भी नहीं रोका जाएगा।" 

आपको बता दें कि इस आंदोलन में एक किसान ने ट्रक के अंदर शानदार घर बना लिया है। इस ट्रक में हर वो सुविधा है जो किसी घर में होती है। इस ट्रक नुमा घर में टॉयलेट, वाशबेसिन,डबल बेड, शोफे, एलईडी स्क्रीन, पंखे, फ्रीज लगाए गये हैं। इस ट्रक को बनाने वाले किसान बताते हैं कि हम पता था कि आंदोलन लंबा चलाने वाला है। इसलिए हमने ट्रक के अंदर घर बना लिया है।

वहीं इस ट्रक के नीचे भी एक एक होटलनुमा झोपड़ी बनाई गई है। जिसमें बेड और पंखा लगाया गया है। इसके साथ ही झोपड़ी में ठंड़े पानी के लिए फ्रिज भी लगाया गया है। बता दें कि कृषि क़ानूनों के विरोध में टीकरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने गर्मी के मौसम के लिए तैयारी कर ली है। कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन के स्थान पर पंखे, बोरवेल और फ्रिज का इंतज़ाम कर लिया है। दिल्ली में चल रहे विरोध प्रदर्शन में अमृतसर से जत्था रवाना हो रहा है। गर्मी का ध्यान रखते हुए ट्रोलियों में कुछ इंतज़ाम किए गए हैं। किसान मज़दूर संघर्ष कमेटी के महासचिव ने जानकारी दी है कि, “पंखे, पानी और मच्छरों के लिए मच्छरदानी की व्यवस्था की गई है।” 

 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept