Farmers Protest : जानें किसानों-भाजपा कार्यकर्ताओं में भिड़ंत के मुद्दे पर क्या बोले Rakesh Tikait ?

Publish Date: 01 Jul, 2021 |
 

 

Rakesh Tikait On Ghazipur Border Violence: नए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाबहरियाणा और यूपी समेत कई राज्यों के किसान पिछले कई महीनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों ने साफ कर दिया है कि जब तक नए कानून वापस नहीं लिए जाते वो वापस नहीं जाने वाले हैं। कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर फिर एक बार आंदोलन को तेज किया जा रहा है।किसान आंदोलन को फिर एक बार तेज किया जा रहा है। वहीं बीते दिन यानी 30 जून को गाजीपुर बॉर्डर पर हुई हिंसा के हमले में अब  राकेश टिकैत का बयान सामने आया है।

राकेश टिकैत ने कहा कि, किसानों का आंदोलन (Kisan Andolan) जारी है तो बीजेपी (BJP) के कार्यकर्ता कल क्‍यों आए। वो यहां पर आए और मंच के सामने नारेबाजी करने लगे। उन्होंने आगे कहा कि, इस समय देश पर कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया है। इनको देश की जनता, व्यापारी, किसान और मजदूरों से कोई लेना देना नहीं है। हैरानी की बात है कि किसान देश की राजधानी को घेर कर बैठे हैं और सरकार बात ही नहीं कर रही है। किसान भी पीछे नहीं हटेगा।

क्या है पूरा मामला

बताया जा रहा है कि बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेशमंत्री अमित वाल्मीकि का स्वागत करने के लिए कार्यकर्ता दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे खड़े थे। दिल्ली से गाजियाबाद वाली लेन पर वाहनों का काफिला जब किसानों के मंच के सामने पहुंचा तो बीजेपी कार्यकर्ता और किसानों में नोकझोंक हो गई। किसानों का आरोप है कि भाजपाइयों ने उन्हें अपशब्द कहे, तो वही भाजपाइयों का भी यही आरोप है। भाजपाइयों ने कहा कि किसानों ने उनके खिलाफ नारेबाजी और कुछ गाड़ियों  तोड़फोड़ की है।

वहीं किसान नेता राकेश टिकैत ने इस मामले पर कहा कि, “बीजेपीके कार्यकर्ता मंच पर कब्जा करना चाहते थे। यह लोग यहां बीते कई दिनों से आ रहे हैं और माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं।इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये VIDEO….

 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept