Greta Thunberg Tool Kit case : टूलकिट मामले में Disha Ravi बंगलूरू से गिरफ्तार, गूगल डॉक बनाकर उसे सर्कुलेट किया – Watch Video

Publish Date: 15 Feb, 2021 |
 

Greta Thunberg Tool Kit case : जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग टूलकिट केस में दिल्ली पुलिस ने पहली गिरफ्तारी की है। इस मामले में दिल्ली पुलिस की साइबर सेल साइबर ने क्लाइमेट‍ एक्टिविस्ट दिशा रवि को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया। दिशा फ्राइडे फॉर फ्यूचर कैंपन की फॉउंडर मेंबर में से एक हैं। रविवार को पुलिन ने दिशा को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें 5 दिन की रिमांड पर लिया गया गया है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि दिशा ने ने टूल किट गूगल डॉक को ने एडिट किया था। इसके साथ ही उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर शेयर किया था।

पुलिस ने टूलकिट मामले में 4 फरवरी को केस दर्ज किया था। पुलिस ने आपराधिक साजिश रचने के आरोप में टूलकिट के एडिटरों के खिलाफ दर्ज की थी। पुलिस का कहना है कि टूलकिट मामला खालिस्तानी ग्रुप को दोबारा खड़ा करना है। इसके साथ ही भारत सरकार के खिलाफ एक बड़ी साजिश रची जा रही है।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि दिशा ने टूलकिट को एडिट किया है और उसे वॉट्सऐप ग्रुप पर शेयर किया था। यह टूलकिट किसानों के आंदोलन के समर्थन में बनाई गई थी। बता दें कि यह वही टूलकिट है, जिसे ग्रेटा थनबर्ग ने Twitter पर शेयर किया था। दिल्ली पुलिस ने बताया दिशा उस टूलकिट की एडिटर हैं।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने Tweet कर इस मामले में कहा कि,  “सवाल ये है कि वो कब गिरफ्तार होंगे जो भारत की राष्ट्रीय एवं सामाजिक एकता को खंडित करने के लिए सुबह-शाम जनता के बीच घृणा व विभाजन को जन्म देने के लिए शाब्दिक ‘टूलकिट' जारी करते रहते हैं। भाजपा सरकार बताए कि शिकायत करने पर भी वो इन ‘टूलकिटजीवियों' पर कार्रवाई क्यों नहीं करती?”

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. ने ट्वीट किया कि, "माउंट कार्मेल कॉलेज की 21 वर्षीया छात्रा और जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि राष्ट्र के लिए खतरा बन गई है, तो इसका मतलब है कि भारतीय राज्य बहुत ही कमजोर नींव पर खड़ा है।" इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video….

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept