Happy Birthday Kapil Dev: भारत को पहला विश्वकप जिताने वाले ऑलराउंडर कपिल देव के बारे में जाने कुछ खास बातें

Publish Date: 04 Jan, 2021 |
Happy Birthday Kapil Dev: भारत को पहला विश्वकप जिताने वाले ऑलराउंडर कपिल देव के बारे में जाने कुछ खास बातें

Happy Birthday Kapil Dev: भारतीय टीम के ऑलराउंडर कहे जाने वाले कपिल देव निखंज 06 जनवरी को अपना जन्मदिन मनाएंगे है। भारत को पहली बार 1983 में विश्व कप की जीत दर्ज कराने वाले कपिल देव का जन्म 06 जनवरी को 1959 में जन्म हुआ था। कपिल देव क्रिकेट के एक मात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके नाम 400 से ज्यादा विकेट और 4000 से ज्यादा रनों का रिर्काड दर्ज है। कपिल देव के नाम पर 131 टेस्ट मैचों में कुल 5248 रन और 434 विकेट शामिल हैं। यदि कपिल को 1984-85 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच से ड्रॉप नहीं किया जाता तो उनके टेस्ट करियर का ये लगातार 132 टेस्ट मैच का होता।

Kapil Dev ने ये बनाया था खास रिकॉर्ड

2

1959 में 6 जनवरी को चंडीगढ़ में कपिल देव का जन्म हुआ था। उनके नाम पर कई बड़े रिकॉर्ड दर्ज हैं साथ ही क्रिकेट से जुड़े कई किस्से भी शामिल हैं। कपिल देव के रूप में भारतीय क्रिकेट टीम को पहला ऐसा तेज गेंदबाज मिला था जिससे विरोधी टीम के बल्लेबाज खौफ में रहते थे। बता दें कि कपिल देव केवल भारत के ही नहीं बल्कि दुनिया के एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में 5000 से ज्यादा रन बनाए हैं साथ ही 400 से ज्यादा विकेट भी लिए है।

16 अक्टूबर साल 1978 के दिन भारतीय क्रिकेट टीम को अपना पहला तेज गेंदबाज मिला था। कपिल देव ने इसी दिन पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद टेस्ट में अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी। कपिल ने इस मैच में जब अपनी पहली गेंद फेंकी तो स्ट्राइक पर पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज माजिद खान थे। कपिल की गेंद माजिद खान के हेलमेट से टकराई थी और उन्हें 4 रन मिले थे।

Kapil Dev ने भारत को पहला वर्ल्ड कप खिताब दिलाया

3

कपिल देव के नेतृत्व में जब इंडियन टीम साल 1983 के वनडे वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने के लिए इंग्लैंड गई थी तब ऐसा किसी ने भी नहीं सोचा होगा कि यह टीम वर्ल्ड कप जीत जाएगी। कपिल देव के धुरंधरों ने 1983 के वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन किया था। भारतीय टीम ने लो-स्कोरिंग फाइनल में दो बार के चैंपियन वेस्टइंडीज को हराया था औऱ वर्ल्ड कप जीता था। इसपर कोई यकीन नहीं कर पा रहा था। भारतीय क्रिकेट टीम ने यह मुकाबला 43 रनों से जीता था। इससे भारतीय टीम सहित कपिल देव का नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज हो गया। इस जीत के 28 साल के बाद 2011 में महेंद्र सिंह धोनी के जांबाजों ने भारत को दूसरी बार वर्ल्ड कप दिलाया था।

Kapil Dev के बारे में कुछ Interesting Facts

kapil

कपिल देव ने तीन Autobiographical किताबें लिखी हैं। 1985 में आई थी God’s Decree, ‘Cricket my style 1987 में आई थी। आखिरी साल 2004 में Straight from the Heart आई थी।

उन्होंने साल 1991 में अपनी मेडन और केवल रणजी ट्रॉफी चैंपियनशिप जीती थी। कपिल देव ने अपने पूरे टेस्ट करियर के 184 पारियों में एक बार भी रन आउट नहीं हुए हैं।

कपिल 400 से भी ज्यादा विकेट लेने और 5000 से ज्यादा रन बनाने वाले क्रिकेट के इतिहास में केवल एक ही खिलाड़ी हैं। साल 2010 में 11 मार्च को ICC हॉल ऑफ फेम में उन्हें शामिल किया गया था। कपिल देव ने साल 1983 में भारत को पहली बार विश्व कप खिताब दिलाया था, वो मैच हम 43 रनों से जीते थे।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept