India-China Face Off Update: लद्दाख में LAC पर भारत-चीन के सैनिकों में हिंसक झड़प, एक्शन में Indian Govt - Watch Video

Publish Date: 17 Jun, 2020
 
India-China Face Off Update: लद्दाख (ladakh) के गलवान घाटी (galwan valley) में भारत-चीन सैनिकों के बीच हिंसक झड़प (India-china face off) में तीन भारतीय सैनिक शहीद (Indian soldiers martyr) हो गए हैं। इनमें सेना के एक अफसर (colonel) भी शामिल हैं। सेना ने कहा है कि दोनों ओर के सैनिक हताहत हुए हैं। चीन के साथ हुई इस झड़प को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने सीडीएस बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) के साथ बैठक की है। इस बैठक में विदेश मंत्री एस. जयशंकर (Foreign Minister S. Jaishankar) और आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे (Army Chief General MM Narwane) भी मौजूद थे। इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ तीनों सेना प्रमुख मौजूद रहे। शहीद होने वाले जवानों में कर्नल बी संतोष बाबू ( Colonel B Santosh Babu), 16 बिहार रेजिमेंट (16 bihar regiment) के कमांडिंग ऑफिसर, 81 फील्ड रेजिमेंट (81 Field Regiment) के हवलदार के पलानी (Havildar k palani) और 16 बिहार रेजिमेंट के हवलदार सुनील कुमार झा (Havildar Sunil Kumar Jha) शामिल हैं। बता दें कि पिछले करीब डेढ़ महीने से भारत और चीन सैनिकों के बीच लद्दाख में तनातनी चल रही है। भारत की ओर से सड़क निर्माण का काम किए जाने पर आपत्ति जताते हुए बड़ी संख्या में चीनी सैनिक यहां आ गए थे। दोनों देशों में बातचीत चल रही थी। दोनों देशों के सैनिकों के पीछे हटने की खबरें आ रही थीं और माना जा रहा था कि जल्द ही यह तनाव खत्म हो जाएगा। भारत-चीन के बीच LAC पर गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प को लेकर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का बयान आया है। उन्होंने कहा कि इस झड़प में तीन बहादुर शहीदों के साथ देश खड़ा है। शहीदों के परिवार के साथ मेरी पूरी संवेदनाएं हैं। ओवैसी ने कहा कि बॉर्डर पर कमांडिंग ऑफिसर सामने से अगुवाई कर रहे थे और सरकार को इनकी शहादत का बदला लेना चाहिए। साथ ही सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका बलिदान व्यर्थ ना जाए।
 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept