Jaya Bachchan in Parliament: Jaya Bachchan के बयान परRavi Kishan का जवाब, बोले- मैं Film Industry को खोखला होने नहीं दूंगा

Publish Date: 15 Sep, 2020
 

Jaya Bachchan in Parliament: संसद के मानसून सत्र के पहले दिन गोरखपुर से सांसद और एक्टर रवि किशन ने संसद में देश और बॉलीवुड में ड्रग के बढ़ते इस्तेमाल और तस्करी का मुद्दा उठाया था। इसी कड़ी में आज जया बच्चन ने सदन में कहा कि कुछ लोगों की वजह से पूरे फिल्म उद्योग की छवि को धूमिल नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने सांसद रवि किशन का नाम लिए बगैर कहा कि बॉलीवुड से जुड़े कुछ लोगों को उस थाली में छेद नहीं करना चाहिए, जिससे उनका पेट भरता है। जया ने कहा कि केवल कुछ लोगों की वजह से आज मनोरंजन उद्योग आलोचना का शिकार हो रहा है जो हर दिन करीब 5 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और करीब 50 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार देता है। जया ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कुछ ऐसे हालात हुए कि मनोरंजन जगत सोशल मीडिया पर बुरी तरह आलोचना का शिकार होने लगा और उसे 'गटर' कहा जाने लगा। 'यह सही नहीं है। ऐसी भाषा पर रोक लगाई जानी चाहिए।' इसपर रवि किशन ने पलटवार किया है। जया बच्चन के इस बयान पर रवि किशन ने कहा, 'मुझे लगा कि मैंने जो कहा जया जी उसका समर्थन करेंगी। इंडस्ट्री में हर कोई ड्रग्स नहीं लेता लेकिन कुछ लोग दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री को तबाह करने के प्लान का हिस्सा हैं। जब मैंने और जया जी इंडस्ट्री में आए थे तब ऐसी स्थिति नहीं थी लेकिन अब हमें इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है।' उन्होंने आगे कहा, 'मैं खुद की बनाई थाली मैं छेद नहीं करता। बॉलिवुड के ड्रग्स नेक्सस की बात कही थी। जया बच्चन के बयान से हैरान हूं।' आपको बता दें कि रवि किशन ने लोक सभा में सोमवार को देश और बॉलीवुड में बढ़ते ड्रग के मामले पर चिंता जताई थी। साथ ही सरकार तस्करी और इसका इस्तेमाल करने वालों पर सख्ती से रोक लगाने की बात कही। उन्होंने एनसीबी के काम की तारीफ भी की। रवि किशन ने कहा, 'भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में ड्रग की लत काफी ज्यादा है। कई लोगों को पकड़ लिया गया है। एनसीबी बहुत अच्छा काम कर रही है। मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं वह इस पर सख्त कार्रवाई करें, दोषियों को जल्द से जल्द पकड़े और उन्हें सजा दे जिससे की पड़ोसी देशों की साजिश का अंत हो सके।'




 

 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept