Donald Trump के खिलाफ महाभियोग प्रस्‍ताव पास, Joe Biden बोले- ये US के खिलाफ सशस्त्र विद्रोह था – Watch Video

Publish Date: 14 Jan, 2021 |
 

अमेरिका के निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने का प्रस्ताव काफी बहस के बाद प्रतिनिधि सभा में पास हो गया है। डोनाल्ड ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने अपने समर्थकों को कैपिटोल में हिंसा के लिए उकसाया। है। वहीं कैपिटोल में हुई हिंसा पर नए राष्ट्रपति बनने वाले Joe Biden ने निशाना साधते हुए ट्रंप को लेकर बयान दिया है। Joe Biden ने कहा कि, “हमने अपने लोकतंत्र पर एक अभूतपूर्व हमला देखा। यह हमारे राष्ट्र के 244 साल के इतिहास में देखी गई किसी भी चीज के उलट था। इस आपराधिक हमले की योजना बनाई गई और कॉर्डिनेट किया गया। यह राजनीतिक चरमपंथियों और घरेलू आतंकवादियों द्वारा किया गया था, जिन्हें राष्ट्रपति Donald Trump द्वारा इस हिंसा के लिए उकसाया गया था।”

वहीं डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि, "भीड़ द्वारा हिंसा मेरे विश्वास और हमारे आंदोलन के लिए खिलाफ है। मेरा कोई भी सच्चा समर्थक कभी भी राजनीतिक हिंसा का समर्थन नहीं कर सकता, मेरा कोई भी सच्चा समर्थक कानून प्रवर्तन का अपमान नहीं कर सकता, मेरा कोई भी सच्चा समर्थक कभी भी अपने साथी अमेरिकियों को धमकी या परेशान नहीं कर सकता था। यदि आप इनमें से कोई भी ऐसा काम करते हैं तो आप हमारे आंदोलन का समर्थन नहीं कर रहे हैं। आप हमारे आंदोलन पर और हमारे देश पर हमला कर रहे हैं। हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते।"

बता दें कि, डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने का प्रस्ताव काफी बहस के बाद प्रतिनिधि सभा में पास हो गया है। इसके बाद ट्रंप पहले ऐसे राष्ट्रपति बन गए हैं जिसपर दूसरी बार ये Impeachment चलेगा। ट्रंप पर देश के विरोध में विद्रोह भड़काने का आरोप लगा है। 10 रिपब्लिकन सांसदों ने महाभियोग के पक्ष में वोट किया है। 19 जनवरी को सीनेट में ये प्रस्ताव लाया जाएगा। दरअसल ट्रंप के समर्थकों के ओर से Capitol Hills Violence में जबरन घुसने और हिंसा के लिए ट्रंप के खिलाफ यह प्रस्ताव पेश किया गया है। इस खबर के बारे अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept