पराली के प्रदूषण से सिर्फ दिल्ली नहीं पूरा उत्तर भारत परेशान : Manish Sisodia – Watch Video

Publish Date: 13 Oct, 2020
 

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को कहा कि प्रदूषण, विशेष रूप से स्टब बर्निंग से संबंधित, केवल दिल्ली के लिए एक मुद्दा नहीं है, यह पूरे उत्तर भारत के लिए है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए साल भर काम कर रही है। सिसोदिया ने केंद्र को यह कहते हुए फटकार लगाई कि "दुर्भाग्य से, केंद्र सरकार ने इसे हल करने के लिए कुछ नहीं किया" उन्‍होंने कहा है कि प्रदूषण को लेकर केंद्र सरकार की निष्क्रियता का नुकसान पूरे उत्तर भारत को हो रहा है। सिसोदिया ने कहा कि मैं एनवायर्नमेंट पॉल्‍युशन प्रिवेंशन एंड कंट्रोल अथॉरिटी (EPCA) से भी अपील करना चाहता हूं कि वो भी इस बात को देखें। सिसोदिया ने आगे कहा कि, "केंद्र सरकार को प्रदूषण कम करने में भूमिका निभानी होगी। मेरा अनुरोध है कि केंद्र सरकार और सभी सरकारों को इस समस्या से निपटने के लिए अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। प्रदूषण प्लस कोरोनोवायरस लोगों के लिए घातक हो गया है। केंद्र पूरे वर्ष के दौरान मूर्खतापूर्ण तरीके से बैठी रही है, इस समय के आसपास कुछ बैठकें चलती है और फिर उसके बाद कुछ भी नहीं होता है। मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि उन्हें कम करने के लिए एक भूमिका निभानी होगी। बता दें कि स्टब बर्निंग और बढ़ते प्रदूषण से संभावित राहत में, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने राष्ट्रीय स्तर के नरेला क्षेत्र के हिरंकी गाँव के एक खेत में पूसा रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा तैयार बायो-डीकंपोज़र घोल का छिड़काव शुरू कर दिया। आपको बता दें कि, प्रदूषण  में हुई वृद्धि के कारण सोमवार के कारण दिल्ली के 9 इलाके अब रेड जोन में आ गए हैं। आनंद विहार, बवाना, डीटीयू, आइटीओ (ITO), पटपड़गंज (Patparganj), विवेक विहार (Vivek Vihar), वजीरपुर (Wazirpur), अशोक विहार (Ashok Vihar), जहांगीरपुरी (Jahangirpuri) इन सभी जगह एयर इंडेक्स 300 का आंकड़ा पार कर बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गया। राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता मंगलवार सुबह "बहुत खराब" श्रेणी में आ गई है, पहली बार इस मौसम में, धीम हवाएं और कम तापमान प्रदूषण  में हुई वृद्धि हुई है। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept