Modi Cabinet Meeting: MSME के लिए 20000 करोड़ का पैकेज, किसान,रेहड़ी वालों के लिए बड़े ऐलान, जानें क्या-क्या मिला

Publish Date: 02 Jun, 2020
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई। कैबिनेट की यह मीटिंग देश में चौथे चरण का लॉकडाउन खत्म होने के ठीक एक दिन बाद हुई है। देश में 25 मार्च से ही लगातार लॉकडाउन जारी था जिसमें आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह ठप थीं। इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। कैबिनेट बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, नितिन गडकरी और नरेंद्र सिंह तोमर ने कैबिनेट में लिए गए फैसलों के बारे में जानकारी दी। किसानों ( Farmer ), मजदूरों ( Labour ) और छोटे कारोबारियों को ध्यान में रखते रोड मैप तैयार किया गया है। रेहड़ी पटरी वालों के लिए 10 हजार के कर्ज के साथ ही सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम ( MSME ) की परिभाषा को बदला गया। इसके साथ एमएसएमई के लिए 50 हजार करोड़ की इक्विटी का प्रस्ताव पहली बार आया है। इससे अच्छा काम करने वाले MSME को आकार और क्षमता बढ़ाने का अवसर मिलेगा। कैबिनेट ने 14 फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य को मंजूरी दी है। किसानों को मूल्य की तुलना में 50-83 फीसदी तक ज्यादा मिल सकेगा। MSME की परिभाषा को और संशोधित किया गया है। संकट में फंसे MSME को मदद दी जाएगी। शहरी और आवास मंत्रालय ने विशेष सूक्ष्म ऋण योजना शुरू की है। ये रेहड़ी-पटरी वालों की मदद के लिए योजना है। इस योजना से 50 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। खेती और उस जुड़े काम के लिए 3 लाख तक के अल्पकालिक कर्ज के भुगतान की तिथि 31 अगस्त 2020 तक बढ़ाई गई है।
 
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept