Navratri 2020 Pujan Samagri & Vidhi: नवरात्रि पर जानें कलश स्थापना की विधि,शुभ मुहूर्त, पूजा सामग्री की लिस्ट- Watch Video

Publish Date: 17 Oct, 2020
 

Navratri 2020 Pujan Samagri & Vidhi: कोरोना वायरस के कारण इस बार सभी लोग नवरात्री अपने घर पर ही मनाएंगे। जरूरी है कि आप इस दौरान अपनी सेहत का ध्यान रखें। इस दौरान लोग मां के लिए नौ दिनों का व्रत रखते हैं जिसमें वो खाने से दूर रहते हैं औऱ फलाहार पर रहते हैं। ये व्रत हर कोई अपने तरीके से करता है कुछ लोग निर्जला रखते हैं तो कुछ फलाहार। आज से नवरात्रि की शुरुआत हो गई है। नवरात्रि के मौके पर बड़ी तादाद में मां दुर्गा के भक्त अपने घर पर मंगल घटस्थापना करते हैं। अखंड ज्योति जलाते हैं। नौ दिनों का उपवास रखते हैं। आइए इस मौके पर जानते हैं शारदीय नवरात्रि के मंगल कलश स्थापना की विधि और नियम। 

 

जानते हैं घट स्थापना के शुभ मुहूर्त के बारे में- 

सुबह 6.10 से 9.04 बजे- आश्विन घट स्थापना मुहूर्त

सुबह 9.04 से10.32 बजे- राहु काल मुहूर्त

सुबह 11.36 से दोपहर 12.22 बजे- अभिजीत मुहूर्त

 

इसका महत्व- 

नवरात्रि में घटस्थापना का विशेष महत्व होता है। ये नवरात्रि का पहला दिन होता है और इसी दिन से नवरात्रि पर्व का प्रारंभ माना गया है। सनातन धर्म की मानें तो, किसी भी शुभ कार्य के लिए कलश स्थापना करना शुभ माना जाता है और इसी कलश को शास्त्रों में भगवान गणेश की संज्ञा दी गई है। इसी लिए हर पूजा या मंगल कार्य की शुरुआत सर्वप्रथम गणेश जी की वंदना से की जाती है, जिसमें कलश की स्थापना पूरे विधि-विधान अनुसार करने के पश्चात ही कोई भी कार्य किया जाता है। 

 

पूजा के लिए सामग्री- 

फूलदाना, मिठाई, मेवा, फल, इलायची, मखाना, लौंग, मिश्री आदि होनी चाहिए। नौ दिन अखंड ज्योति के लिए शुद्ध घी, बड़ा दीपक, बाती और थोड़े चावल का इस्तेमाल करें। हवन करने के लिए रोजाना लौंग के 9 जोड़े लें, कपूर, सुपारी, गुग्गुल, लोबान, घी, पांच मेवा, चावल, आम की लकड़ी, धूप, लकड़ी आदि।  


आपको बता दें, इस बार शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूर (आज) से शुरू होकर 25 अक्टूबर तक चलेंगे। नवरात्रि का पर्व साल में दो बार मनाया जाता है। 

 

 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept