Nirbhaya Case: दोषी Mukesh की आखिरी याचिका भी Supreme Court में खारिज

Publish Date: 29 Jan, 2020
 
निर्भया गैंगरेप केस के दोषी मुकेश सिंह की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है.इस याचिका में राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका खारिज करने के आदेश को कोर्ट में चुनौती दी थी. बुधवार को याचिका खारिज करने के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा,' इस याचिका में कोई मेरिट नहीं है और दिल्ली सरकार ने दोषी से जुड़ा सारा रिकॉर्ड राष्ट्रपति को भेजा था, राष्ट्रपति ने रिकॉर्ड देखने के बाद दया याचिका खारिज की है'.President के फैसले पर सवाल उठाने वाले Nirbhaya Case के Convict Mukesh को Supreme Courts से झटका लगा है। SC ने Mukesh की वो दया याचिका खारिज की है जिसे इससे पहले President Ramnath Kovind कर चुके हैं जिसके खिलाफ मुकेश सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था। वहीं अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निर्भया की मां आशा देवी (Nirbhaya’s Mother Asha Devi) ने खुशी जाहिर की है और जल्द से जल्द इंसाफ की उम्मीद जताई है। फैसला आने के बाद निर्भया की मां ने कहा कि अब मुझे उम्मीद है कि पूरा इंसाफ मिलेगा. मुजरिम कानून का दुरुपयोग कर रहे हैं. मुकेश की याचिका खारिज होने से अब मुझे एक फरवरी को दोषियों की फांसी की उम्मीद है.दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दोषी के वकील एपी सिंह (AP Singh, Convict’s Lawyer) ने फिर दया याचिका खारिज होने के तरीके पर सवाल उठाया है।
 

Related videos

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept